संयुक्त राष्ट्र ने स्थगित की सीरियाई वार्ता

इमेज कॉपीरइट AFP

सीरिया में पिछले पांच साल से चल रहे गृहयुद्ध को ख़त्म करने के लिए जिनेवा में चल रही वार्ता को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है.

संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत स्टाफन डे मिस्तूरा ने इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा, "वार्ता के दौरान प्रगति की काफी कमी थी लेकिन ये पूरी तरह से विफल नहीं हुई है."

उन्होंने कहा कि वार्ता दोबारा 25 फरवरी को शुरू होगी. विद्रोहियों के कब्ज़े वाले एलैपो शहर पर सीरियाई सरकार द्वारा किए गए हमले के बाद संयुक्त राष्ट्र ने ये फैसला किया.

पांच साल से गृह युद्ध झेल रहे सीरिया में परस्पर विरोधी पक्षों के बीच संयुक्त राष्ट्र शांति वार्ता कराने की कोशिश कर रहा है.

विद्रोहियों का कहना है कि एलैपो में सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है और रूसी हवाई हमले भी हुए हैं.

इसके बाद संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत ने मंगलवार शाम कहा कि शुरुआती चरण में ही बातचीत के टूटने की आशंका है.

मिस्तूरा ने बीबीसी को बताया, "दोनों पक्षों के बीच भरोसा का स्तर शून्य के बराबर है."

उन्होंने रूस और अमरीका से इस बारे में मदद की अपील करते हुए कहा, "मेरे लिए युद्धविराम बहुत जरूरी है. असल में इसी से पता चलेगा कि बातचीत कामयाब हो रही है."

इमेज कॉपीरइट AFP

उधर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील की है कि जैसी एकजुटता उसने ईरान के परमाणु संकट को लेकर दिखाई, वैसी ही सीरिया संकट पर भी दिखाई जाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)