ताइवान: 48 घंटे बाद मलबे से महिला को ज़िंदा निकाला

इमारत के पास राहत और बचाव काम करते कर्मचारी. इमेज कॉपीरइट EPA

ताइवान के राहत और बचावकर्मियों ने भूकंप आने के 48 घंटे बाद एक महिला और एक पुरुष को मलबे से ज़िंदा निकाला है.

शनिवार तड़के आए भूकंप में गिरे टॉवर के मलबे में यह महिला पिछले दो दिन से दबी पड़ी थी. उसे उसके पति की लाश के नीचे से निकाला गया जबकि इनके छोटे से बच्चे की लाश भी इनके पास ही पड़ी हुई मिली.

इमेज कॉपीरइट EPA

इस इमारत के मलबे में दबकर 35 लोगों को मौत हो गई थी और सौ से अधिक लोग अभी भी लापता हैं.

हताहतों के परिजन इस इमारत के पास जाने की कोशिश करते रहे हैं और उनमें ख़ासा गुस्सा और निराश है.

अधिकारियों ने कहा कि इस 17 मंजिला इमारत से रविवार शाम तक 310 लोगों को बचाया गया था, इनमें से 100 लोगों को अस्पताल ले जाया गया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस इमारत के अलग-अलग हिस्से में एक और महिला और पुरुष फंसे हुए हैं. ख़बरों के मुताबिक़ वो राहत और बचाव कर्मियों से बातचीत कर रहे हैं.

इमारत के मलबे से छह महीने की एक बच्ची को ज़िंदा निकाला गया. लेकिन इसके कुछ घंटे बाद ही उसकी इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार