भारत की जेल में भी बंद रहे हैं कोइराला

सुशील कोइराला

नेपाल के प्रतिष्ठित कोइराला परिवार में पैदा हुए सुशील कोइराला 2013 में नेपाल के 37वें और 2008 में राजशाही ख़त्म होने के बाद देश के छठे प्रधानमंत्री बने थे.

नेपाली कांग्रेस की नीतियों से प्रभावित कोइराला 1954 में सक्रिय राजनीति में आए थे. वो 1979 से पार्टी की सेंट्रल वर्किंग कमेटी के सदस्य थे. नेपाली कांग्रेस पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता सुशील कोइराला पार्टी के अध्यक्ष थे.

सुशील कोइराला का निधन

नेपाल में 2013 में हुुए संविधान सभा के चुनाव में नेपाली कांग्रेस सुशील कोइराला के नेतृत्व में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी और वो प्रधानमंत्री चुने गए.

पढ़ें : किराए के मकान में रहने वाले नेपाल के प्रधानमंत्री

नेपाल में 1960 में राजा महेंद्र के शासनकाल में सुशील कोइराला को भारत निर्वासित कर दिया गया. वो 20 सालों तक भारत में रहे और पार्टी के प्रकाशन 'तरुण' का संपादन किया.

क़रीब छह दशक राजनीति में गुज़ारने वाले कोइराला ने कई बार कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार में मंत्री पद अस्वीकार कर दिया. सुशील कोइराला ने अपना जीवन बहुत ही सादगीपूर्ण तरीके से बिताया.

देश की शाही सरकार पर दबाव डालने के लिए नेपाली विमान को हाईजैक करने की कोशिश में कोइराला गिरफ़्तार कर लिए गए थे. उन्होंने भारत की जेल में तीन साल बिताए.

इमेज कॉपीरइट AFP

सुशील कोइराला के प्रधानमंत्री रहने के दौरान ही नेपाल में 20 सितंबर 2015 को नया संविधान लागू हुआ. लेकिन इसके बाद हुए प्रधानमंत्री पद के चुनाव में वो सीपीएन (यूएमएल) के खड्ग प्रसाद शर्मा ओली से हार गए.

अविवाहित रहे सुशील कोइराला का जन्म 12 अगस्त 1939 को भारत के बनारस में हुआ था.

इमेज कॉपीरइट AFP

सुशील कोइराला, नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री गिरिजा प्रसाद कोइराला के रिश्तेदार थे.

जुलाई 2014 में पता चला कि सुशील कोइराला को फेंफड़े का कैंसर है.

इमेज कॉपीरइट AP

उनका नौ फरवरी 2016 को 77 साल की उम्र में निमोनिया की वजह से निधन हो गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार