पोप को लेकर चंद घंटों में बदले ट्रंप

डोनाल्ड ट्रम्प इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए रिपब्लिकन पार्टी से उम्मीदवारी हासिल करने की दौड़ में शामिल डोनाल्ड ट्रंप ने पोप फ्रांसिस की तारीफ़ की है.

पोप ने ट्रंप के ईसाई होने पर सवाल उठाया था. ये बात उन्होंने अमरीका और मैक्सिको के बीच दीवार बनाने के प्रस्ताव के सिलसिले में कही थी.

इसके बाद, ट्रंप ने ख़ुद को 'एक सच्चा ईसाई' बताया था और कहा कि पोप ने मैक्सिको की शह पर ऐसे 'शर्मनाक बयान' दिए हैं.

लेकिन इसके कुछ ही घंटों बाद ट्रंप का रुख़ नरम नज़र आया.

उन्होंने कहा, "मैं पोप की बहुत इज़्ज़त करता हूँ. वे काफी प्रभावशाली हैं और वो बहुत अच्छा काम कर रहे हैं. उनके पास बहुत ऊर्जा हैं."

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंने कहा कि पोप को प्रस्तावित दीवार के बारे में सही जानकारी नहीं दी गई थी, क्योंकि उन्हें ड्रग्स तस्करी और सुरक्षा की समस्याओं के बारे में नहीं पता.

पोप ने कहा था, "जो व्यक्ति केवल दीवार बनाने की बात करता हो, पुल बनाने की नहीं, वो ईसाई नहीं हो सकता."

पोप के साथ ट्रंप का विवाद ऐसे समय में सामने आया है जब शनिार को साउथ कैरोलिना में रिपब्लिकन पार्टी के मतदाता और नेवादा में डेमोक्रेटिक पार्टी के मतदाता प्राइमरी चुनावों में राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार चुनेंगे.

स्थानीय सर्वेक्षण के मुताबिक़ साउथ कैरोलिना में आगे चल रहे डोनाल्ड ट्रंप इससे पहले न्यू हैम्पशायर प्राइमरी में जीत चुके हैं.

ट्रंप ने अमरीका में बिना कागज़ात के रह रहे क़रीब एक करोड़ दस लाख शरणार्थियों को भी देश से बाहर निकालने की बात का समर्थन किया है.

अरबपति उद्योगपति ट्रंप के पास कोई राजनीतिक अनुभव नहीं है और उम्मीदवारी की दौड़ में उन्हें प्रतिद्वंद्वी टेड क्रूज़ से कड़ी टक्कर मिल रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार