पाकिस्तान ने पठानकोट जांच के लिए टीम बनाई

पठानकोट हमले के बाद भारतीय सुरक्षा बल इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने भारत के पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले की जाँच के लिए संयुक्त जांच टीम बना दी है.

इस पांच सदस्यीय टीम में आतंकवाद निरोधी विभाग और ख़ुफ़िया एजेंसियों के अधिकारी शामिल हैं.

19 फ़रवरी को गुजरांवाला के आतंकवाद निरोधक थाने में पठानकोट घटना पर एक एफआईआर दर्ज की गई थी. यह एफआईआर एक प्रतिबंधित संगठन के अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ दर्ज कराई गई थी.

इमेज कॉपीरइट epa

पंजाब के गृह विभाग की ओर से जारी किए गए नोटिफ़िकेशन के मुताबिक़, पंजाब के आतंकवाद निरोधक बल के अतिरिक्त महानिरीक्षक मोहम्मद ताहिर राय टीम के संयोजक होंगे.

सिविल खुफिया एजेंसी आईबी के उप निदेशक मोहम्मद अज़ीम अरशद, आईएसआई के लेफ्टिनेंट कर्नल तनवीर अहमद, मिलिट्री इंटेलिजेंस लेफ्टिनेंट कर्नल इरफ़ान मिर्ज़ा और गुजरांवाला के आतंकवाद निरोधी विभाग के निरीक्षक शाहिद तनवीर को इस टीम में रखा गया है.

नोटिफ़िकेशन के अनुसार संयुक्त जांच टीम गुजरांवाला में 19 फ़रवरी को दर्ज की गई एफ़आईआर की जांच करेगी.

इमेज कॉपीरइट AFP

यह एफ़आईआर पाकिस्तान के गृह मंत्रालय के उप सचिव एतज़ाज़उद्दीन की निगरानी में दर्ज करवाई गई थी. इसमें हत्या और चरमपंथ से संबंधित धाराएं शामिल की गई हैं.

दो जनवरी को पाकिस्तान की सीमा से पच्चीस किलोमीटर दूर पठानकोट एयरबेस पर चरमपंथी हमले में भारत के सात सैनिक मारे गए थे. चार दिन तक जारी रहने वाले ऑपरेशन के बाद सभी छह हमलावर मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट PIB

भारत ने आरोप लगाया था कि पाकिस्तान में मौजूद प्रतिबंधित जैश-ए-मोहम्मद और इसके प्रमुख मौलाना मसूद अज़हर हमले की साजिश में शामिल हैं.

भारत ने पाकिस्तान से इन लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग की थी.

एफ़आईआर दर्ज किए जाने के बाद आतंकवाद निरोधी विभाग और पंजाब के क़ानून मंत्री राणा सनाउल्लाह की ओर से कहा गया था कि पठानकोट हमले के मुक़दमे की जाँच के लिए एक संयुक्त जांच समिति का गठन किया जाएगा.

अब संयुक्त जांच समिति के गठन के बाद उम्मीद है कि पठानकोट हमले की जाँच जल्द शुरू हो जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार