सीरिया के विद्रोहियों पर रूस का ज़बरदस्त हमला

सीरिया स्थित ठिकानों पर बमबारी जारी इमेज कॉपीरइट AFPGetty

ख़बर है कि सीरिया में लड़ाई रोके जाने के चंद घंटे पहले रूस ने विद्रोहियों के ठिकानों पर बमबारी की है.

रूस ने कहा है कि उसने सीरिया के कुछ हिस्सों में 'आतंकवादियों' पर बमबारी जारी रखी है.

इस बीच, सीरिया के मुख्य विपक्षी समूह ने कहा है कि विद्रोहियों के लगभग 100 गुट संघर्ष रोकने के लिए तैयार हैं.

लड़ाई को अस्थाई तौर पर रोकने के समझौते में सीरिया सरकार और विद्रोही शामिल हैं, जबकि ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाला चरमपंथी गुट और अल-क़ायदा से जुड़ा अल नुस्र फ़्रंट शामिल नहीं है.

इमेज कॉपीरइट AP

विद्रोही गुटों की मंशा बताते हुए उच्च वार्ता समिति ने कहा है कि सीरिया सरकार और उसके सहयोगी "चरमपंथ से लड़ने के बहाने विद्रोहियों पर हिंसक कार्रवाइयां न करें."

सीरिया ऑब्जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा है कि रूसी वायुसेना के हमले 'सामान्य से ज़्यादा तेज़' थे.

उसने यह भी कहा है कि रूसी लड़ाकू विमानों ने दमिश्क के पूर्व में स्थित पूर्वी घूटा, होम्स प्रांत के उत्तर में और अलेप्पो प्रांत के पश्चिम में विद्रोहियों के ठिकानों को निशाना बनाया है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के मुताबिक़, ऑब्जर्वेटरी के रामी अब्दल रहमान ने कहा, "ऐसा लगता है कि सीरिया सरकार और रूस युद्धविराम के पहले विद्रोहियों को झुकाना चाहते हैं या उन पर बढ़त हासिल कर लेना चाहते हैं."

इमेज कॉपीरइट Getty

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर ने कहा कि उनकी वायुसेना इस्लामिक स्टेट, नुस्र फ़्रंट और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की ओर से घोषित उग्रपंथी गुटों को ही निशाना बना रही है.

उन्होंने आगे कहा, "उनके ख़िलाफ़ निर्णायक लड़ाई निश्चित तौर पर जारी रहेगी."

लड़ाई पर अस्थाई रोक पर सहमति रूस और अमरीका की मध्यस्थता के बाद बनी. पर इसकी कामयाबी पर संदेह बना हुआ है.

बीबीसी अरबी के संपादक सैबेस्टियन अशर का कहना है कि सभी पक्षों ने कहा है कि उन पर हमला हुआ तो वे लड़ेंगे.

इमेज कॉपीरइट AP

दमिश्क के उपनगर दराया पर बैरल बम गिराए जाने की रिपोर्ट पर जर्मनी के विदेश मंत्री फ्रैंक-वाल्टर स्टीनमीयर ने 'गहरी चिंता' चिंता जताई है.

उन्होंने सभी पक्षों से अपील की है कि "युद्धविराम जब इतने नज़दीक है, वे वैसा कुछ भी करने से बचें, जिससे यह ख़तरे में पड़ जाए."

इसके पहले अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था कि संघर्ष विराम की कामयाबी इस पर निर्भर है कि सीरिया सरकार, रूस और उसके सहयोगी समेत सभी पक्ष अपने वादे पर बने रहें.

रूसी विदेश मंत्री सर्गई लावरोफ़ ने उम्मीद जताई थी कि अमरीका भी संघर्ष विराम को मानेगा.

पांच साल से चल रहे गृहयुद्ध में ढाई लाख से ज़्यादा सीरियाई मारे गए हैं और कई लाख लोगों को अपना घर बार छोड़ना पड़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार