उत्तर कोरिया पर कड़े प्रतिबंधों की तैयारी

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका ने सुरक्षा परिषद में उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ सख्त प्रतिबंध लगाने के लिए प्रस्तावों का ख़ाका पेश किया है. इसे चीन का भी समर्थन हासिल है.

सुरक्षा परिषद की बैठक दक्षिण कोरिया, जापान और अमरीका के आग्रह पर बुलाई गई थी ताकि उत्तर कोरिया को हाल में उसके नाभिकीय परीक्षण और रॉकेट प्रक्षेपण के लिए सामूहिक रूप से जवाब दिया जा सके.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इन प्रस्तावों में सबसे अहम है - संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों की उत्तर कोरिया आने-जाने वाले कार्गो की निगरानी.

इमेज कॉपीरइट epa

शायद यह पहली बार है जब उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ संयुक्त राष्ट्र इतने कड़े प्रतिबंध लगाने जा रहा है. सुरक्षा परिषद ने कहा है कि प्रतिबंधों का प्रस्ताव जल्द पारित किया जाएगा.

बैठक के बाद अमरीकी प्रतिनिधि समांथा पॉवर ने कहा कि ये प्रतिबंध पिछले 20 साल में सुरक्षा परिषद के लगाए सबसे सख़्त प्रतिबंध होंगे. सप्ताह के अंत में इन पर वोट की संभावना है.

इमेज कॉपीरइट AFP
क्या हैं प्रमुख प्रस्तावित प्रतिबंध?
  • संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देश उत्तर कोरिया जाने वाले सारे माल का निरीक्षण कर सकेंगे.
  • उत्तर कोरिया के गैरक़ानूनी माल ले जाने वाले जहाजों को दुनियाभर के बंदरगाहों पर रोका जाएगा.
  • छोटे शस्त्रों के निर्यात पर रोक के लिए हथियारों के व्यापार पर प्रतिबंध का दायरा बढ़ाया जाएगा.
  • उत्तर कोरिया को रॉकेट ईंधन समेत सभी प्रकार के वायुयान ईंधन का निर्यात प्रतिबंधित किया जाएगा.
इमेज कॉपीरइट AFP

समंथा पॉवर के अनुसार अगर प्रतिबंध मंज़ूर हुए तो इससे उत्तर कोरिया को साफ़ और कड़ा संदेश जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार