सीरिया में संघर्षविराम लागू

इमेज कॉपीरइट AFP

पांच साल से गृहयुद्ध की आग में जल रहे सीरिया में पहला व्यापक संघर्षविराम लागू हो गया है.

यह युद्धविराम शुक्रवार रात 10 बजे से लागू हुआ और शुरुआती रिपोर्टों के मुताबिक़ संघर्ष के प्रमुख इलाक़ों में गोलीबारी बंद हो गई है.

सीरिया में संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत स्तेफ़ान दे मिस्तूरा ने कहा कि लड़ाई बंद हो गई है लेकिन संघर्षविराम के उल्लंघन की एक घटना की जांच की जा रही है.

इमेज कॉपीरइट

संघर्षविराम लागू होने से कुछ घंटे पहले अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सीरिया सरकार और उसके मित्र रूस को चेतावनी दी थी कि दुनिया की नज़रें उन पर रहेंगी.

इससे पहले ख़बरें आ रही थीं कि शुक्रवार सुबह से रूस ने सीरिया के विद्रोहियों पर हवाई हमले तेज़ कर दिए थे.

इमेज कॉपीरइट AFP

सीरिया पर नज़र रखने वाली संस्था सीरियन ऑब्जर्वेटरी फ़ॉर ह्यूमन राइट्स के मुताबिक़ संघर्षविराम के बाद उत्तरी शहर अलेप्पो में ही कुछ गोलीबारी की आवाज़ें सुनाई दीं लेकिन देश के अन्य इलाक़ों में बंदूकें शांत हैं.

मिस्तूरा ने जेनेवा से वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिए सुरक्षा परिषद को बताया कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो 7 मार्च से शांति वार्ता बहाल होगी.

इमेज कॉपीरइट AFPGetty

उन्होंने कहा कि इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि इन प्रयासों को कमज़ोर करने की कोशिशें भी जारी रहेंगी.

मिस्तूरा ने कहा कि यह एक बेहद जटिल प्रक्रिया है, लेकिन कुछ भी असंभव नहीं है. इससे पहले फरवरी की शुरूआत में जेनेवा में सीरिया शांति वार्ता नाकाम हो गई थी.

इमेज कॉपीरइट EPA

सुरक्षा परिषद ने सीरिया में संघर्षविराम के लिए अमरीका और रूस के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया है.

इसमें सभी पक्षों को अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए संघर्ष को समाप्त करने की दिशा में काम करने का आग्रह किया गया है.

इमेज कॉपीरइट AP

सीरिया में गृहयुद्ध में अब तक ढाई लाख नागरिक मारे जा चुके हैं जबकि लाखों विस्थापित हुए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार