मैसिडोनिया, फ्रांस में प्रवासियों-पुलिस की झड़पें

प्रवासियों ने बाड़ तोड़ी इमेज कॉपीरइट AP

ग्रीस और मैसिडोनिया की सीमा पर फंसे सैकड़ों प्रवासियों ने सीमा पर लगाई गई कंटीली बाड़ को तोड़ दिया है.

'सीमा खोलो' के नारे लगाते हुए प्रावसियों ने पुलिस पर पथराव भी किया जिसके जवाब में मैसिडोनिया की पुलिस ने आंसू गैस का इस्तेमाल किया है.

सीरिया और इराक से आए करीब 7,000 प्रवासी कई दिनों से ग्रीस के इदोमेनी क्रॉसिंग पर फंसे हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

मैसिडोनिया समेत कई बाल्कन देशों ने प्रवासियों को रोकने के लिए सीमा पर नियंत्रण बढ़ा दिया है.

बाल्कन देशों की आलोचना करते हुए ग्रीस ने कहा कि प्रवासियों का सारा बोझ ग्रीस पर आ रहा है.

वहीं फ्रांस के कैले में 'जंगल' के नाम से जाने जाने वाले प्रवासियों के कैम्प में झोपड़ियां तोड़ने का काम जारी है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ख़बर है कि प्रवासियों ने पुलिस पर पथराव किया है जिसके जवाब में पुलिस ने लोगों पर आंसू गैस और पानी की बौछार की है.

एक जज ने पिछले दिनों इलाके के दक्षिणी हिस्से में सामुदायिक इमारतों को छोड़कर बाकी ढांचों को गिराने का आदेश दिया था.

फ्रांस की सरकार की योजना इन प्रवासियों को स्वागत केन्द्रों में रखने की है.

कैले से प्रवासी चैनल पार कर इंग्लैंड में प्रवेश करने के लिए मानव तस्करों की मदद लेते हैं.

अफ़ग़ानिस्तान, मध्य पूर्व और इरिट्रिया से आने वाले प्रावसियों को देखते हुए यूरोप में संकट खड़ा हो गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार