ट्रम्प से क्यों डरे हुए हैं विदेशी राजनयिक

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी राष्ट्रपति के चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प के भाषण को लेकर कई विदेशी राजनयिकों ने अमरीकी सरकार को चेतावनी दी है.

वरिष्ठ अमरीकी अधिकारियों के मुताबिक़ यूरोप, मध्य पूर्व, लैटिन अमरीका और एशिया के कई राजनयिकों की शिकायत है कि ट्रम्प सार्वजनिक तौर पर भड़काऊ और अपमानजनक बयान दे रहे हैं.

अधिकारियों ने शिकायतकर्ता देशों की पूरी सूची जारी करने से इनकार कर दिया है पर जो नाम बताए गए हैं उनमें भारत, दक्षिण कोरिया, जापान और मैक्सिको शामिल हैं.

अमरीकी अधिकारियों के मुताबिक़ वैसे विदेशी राजनयिकों का चुनाव के दौरान उम्मीदवारों को लेकर अपनी राय ज़ाहिर करना सामान्य बात है.

इमेज कॉपीरइट AP

कोई भी देश घरेलू राजनीतिक मामलों में दख़ल नहीं देना चाहता क्योंकि कोई भी जीते उन्हें उनके साथ काम करना होता है.

ब्रिटेन, मैक्सिको, फ्रांस और कनाडा के कई वरिष्ठ नेता पहले ही ट्रम्प के सार्वजनिक बयानों की आलोचना कर चुके हैं.

जर्मनी के आर्थिक मंत्री जिकमार गैबरियल पहले ही ट्रम्प को शांति और समृद्दि के लिए ख़तरा बता चुके हैं.

राजनयिकों की इस शिकायत के बारे में ट्रम्प की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है.

इमेज कॉपीरइट AP

भारत ने भी इस पर कोई जवाब नहीं दिया है. जापान और दक्षिण कोरियाई दूतावास ने भी इस पर कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है.

मैक्सिको सरकार के प्रवक्ता ने किसी निजी शिकायत की पुष्टि नहीं की. पर इसकी ओर ध्यान दिलाया कि इसके वरिष्ठ राजनयिक ने क्लाउडिया रुइस मैसयेय ने पिछले हफ़्ते कहा था कि ट्रम्प की नीतियां और बयान मूखर्तापूर्ण और जातिवादी हैं.

उन्होंने अवैध प्रवास रोकने के लिए दीवार बनाने के ट्रम्प के बयान को अनर्गल बताया.

इमेज कॉपीरइट AFP

यूरोप और मध्य पूर्व देशों की सरकारों ने मुसलमानों के बारे में ट्रम्प के बयान पर भी अमरीकी अधिकारियों से आपत्ति दर्ज कराई.

नैटो के एक अधिकारी ने बताया कि यूरोपीय राजनयिक ट्रम्प की प्रगति को लेकर डरे हुए हैं.

अभी यूरोपियन यूनियन चुनौती से जूझ रहा है और जिस समय उसे अमरीका के समर्थन की ज़्यादा ज़रूरत है, उस वक़्त अमरीका को लेकर उसकी व्यग्रता बढ़ रही है.

दूसरे अमरीकी अधिकारी ने कहा कि ज़्यादातर शिकायतें मध्यम और निचले दर्जे के राजनयिकों की तरफ़ से आ रही हैं न कि वरिष्ठ राजनयिकों की ओर से.

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीका के सर्वोच्च सैन्य कमांडर जनरल फ़िलिप ब्रिडलव ने यूरोप में मंगलवार को कहा कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अमरीका के सहयोगियों में उत्तेजना देखी जा रही है.

उन्होंने ट्रम्प का नाम लिए बिना कहा कि यूरोपियन सहयोगियों की ओर से इस बार चुनाव प्रक्रिया को लेकर कई सवाल पूछे जा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार