'को-पायलट के मनोरोगी होने का पता नहीं था'

जर्मनविंग्ज़ हादसा इमेज कॉपीरइट Reuters

फ्रांस के जांचकर्ताओं का कहना है कि जर्मनविंग्स एयरलाइंस के हादसे के लिए ज़िम्मेदार सह पायलट के मनोरोगी होने की बात एयरलाइंस को पता होनी चाहिए थी.

24 मार्च 2015 को जर्मनविंग्स की उड़ान संख्या 9525 को सहपायलट ने जान बूझकर विमान गिरा दिया था.

विमान फ्रांस के ऐल्प्स पहाड़ पर गिरा था और उसमें सवार सभी 150 लोग मारे गए थे.

जांच में पता चला कि सह पायलट आंद्रेयास लुबिस मनोरोगी थे. डॉक्टरों ने यह बात बता दी थी, लेकिन एयरलाइंस और प्राधिकरण तक यह जानकारी नहीं थी.

फ़्रांसीसी जांचकर्ताओं ने कहा है कि विमान चालकों की सेहत से जुड़ी जानकारी की गोपनीयता कम की जानी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट VARIOUS
Image caption जर्मनविंग्ज़ हादसे में मारे गए कुछ लोग

जांच टीम के उप प्रमुख अर्नो देजादां का कहना है कि गोपनीयता अपनी जगह है, लेकिन ख़तरे की भी अनदेखी नहीं की जानी चाहिए.

उन्होंने कहा, "हमारा अनुरोध है कि ऐसा क़ानून बने, जिससे स्वास्थ्य सेवा से जुड़े लोग प्राधिकरण को उन हालात में जानकारी दें, जब एक व्यक्ति की बीमारी की वजह से दूसरों की जान को ख़तरा हो सकता है."

उन्होंने यह भी कहा कि विमान को जान-बूझकर गिराने वाले सह पायलट को उस दिन काम पर जाने की इजाज़त नहीं मिलनी चाहिए थी.

विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले, सह पायलट लुबिस को डॉक्टरों ने सलाह दी थी कि उन्हें अपना इलाज करवाना चाहिए. मगर ऐसा नहीं हुआ.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार