म्यांमार में दशकों बाद ग़ैर-सैनिक राष्ट्रपति

टिन चॉ, म्यांमार इमेज कॉपीरइट Reuters

म्यांमार में दशकों बाद लोकतांत्रिक सरकार चुने जाने के बाद अब संसद ने टिन चॉ को अपना अगला राष्ट्रपति चुना है.

म्यांमार में 50 सालों से अधिक वक़्त तक सैनिक शासन था और अब पहली बार ग़ैर-सैनिक पृष्ठभूमि के एक व्यक्ति देश का नेतृत्व करने जा रहे हैं.

टिन चॉ, आंग सान सू ची के बेहद क़रीबी माने जाते हैं जिनकी पार्टी नैशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी (एनएलडी) ने नवंबर में हुए ऐतिहासिक चुनावों में शानदार जीत दर्ज की थी.

इमेज कॉपीरइट Getty

फ़िलहाल सू ची के राष्ट्रपति बनने पर संवैधानिक रोक लगी हुई है लेकिन उन्होंने संकेत दे दिए हैं कि राष्ट्रपति उनके प्रभाव में ही काम करेंगे.

टिन चॉ को कुल 652 वोटों में से 360 वोट मिले. दूसरे स्थान पर सेना की तरफ़ से नामित उम्मीदवार मिंट स्वे को 200 वोट मिले, वहीं एनएलडी के एक अन्य उम्मीदवार हेनरी वैन थियो को 79 वोट मिले.

ये उम्मीदवार क्रमशः पहले उप राष्ट्रपति और दूसरे उप राष्ट्रपति के तौर पर काम करेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार