पाक जांच टीम 27 मार्च को भारत आएगी

इमेज कॉपीरइट MEA

पठानकोट में चरमपंथी हमले की जांच के लिए बनाई गई पाकिस्तानी टीम (जेआईटी) 27 मार्च को भारत आएगी.

नेपाल की राजधानी काठमांडू में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ ने एक साझा प्रेस कांफ्रेस में इस बात की घोषणा की है.

सार्क की विदेश मंत्री स्तरीय बैठक में हिस्सा लेने पहुंचीं स्वराज ने कहा, "मैं और सरताज साहब मिले और पठानकोट की बात न हो, ऐसा तो हो नहीं सकता. तो पठानकोट की बात हुई और जिन बातों का कई दिन से इंतजार था, वो भी तय हो गईं."

उन्होंने कहा, "27 तारीख की रात को जॉइंट इन्वेस्टिगेशन टीम भारत पहुंचेगी और 28 तारीख से अपना काम शुरू करेगी."

वहीं सरताज अज़ीज़ ने कहा कि पठानकोट हमले को लेकर जिस तरह दोनों देशों के बीच सहयोग दिखा और अब जेआईटी वहां जा रही है, तो इसका बहुत सकारात्मक असर पड़ेगा.

इमेज कॉपीरइट AP

उन्होंने 31 मार्च को वॉशिंगटन में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मुलाकात की भी उम्मीद जताई.

सरताज अज़ीज़ ने ये भी कहा कि इस मुलाकात से रिश्तों में आई रुकावटों को दूर करने में मदद मिलेगी.

पिछले साल पेरिस के जलवायु सम्मेलन में दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की मुलाकात और फिर उसके बाद अचानक मोदी के लाहौर पहुंच जाने से दोनों देशों के रिश्तों में बेहतरी की उम्मीद पैदा हुई थी.

हालाँकि, उसके बाद पठानकोट एयरबेस पर हमले के बाद ये प्रक्रिया धीमी पड़ गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार