सऊदी हीरा चुराने वाला बना बौद्ध भिक्षु

नीला हीरा इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption एक नीले हीरे की फ़ाइल फ़ोटो

तीन दशक पहले एक सऊदी राजकुमार का बहुमूल्य हीरा चुराने वाला एक थाई व्यक्ति गुरुवार को बौद्ध भिक्षु बन गया है, ताकि वह 'अपने कर्मों को सुधार सके'.

क्रियांगक्राइ टेकामोंग 1989 में सऊदी अरब के एक महल में माली के रूप में काम करते थे जब उन्होंने कई जवाहरातों के साथ साथ 50 कैरेट का एक नीला हीरा भी चुरा लिया था.

उन्हें गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया गया लेकिन समय से पहले ही छोड़ दिया गया.

पुलिस ने क्रियांगक्राइ के पास से कुछ जवाहरात तो बरामद कर लिए थे लेकिन वह नीला हीरा कभी नहीं मिला.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार क्रियांगक्राइ ने स्थानीय मीडिया को बताया कि चोरी के बाद से ही उसके परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है.

क्रियांगक्राइ ने थाई राथ अख़बार से कहा, "मुझे विश्वास है कि मेरे साथ भी जो भी बुरा हुआ, वो उस सऊदी (नीले) हीरे की वजह के श्राप की वजह से हुआ. इसलिए मैंने फैसला किया है कि अपने बुरे कर्मों का प्रायश्चित करने के लिए बाकी ज़िंदगी भिक्षु के रूप में रहूंगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार