अमरीका-क्यूबा: ऐतिहासिक पहल, पर मतभेद जारी

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की क्यूबा यात्रा से अमरीका और क्यूबा के इतिहास में एक नए अध्याय की शुरुआत हो चुकी है.

लेकिन क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो और बराक ओबामा की साझा प्रेसवार्ता में कई मुद्दों पर मतभेद नज़र आए, जैसे मानवधिकार के मामले पर.

कास्त्रो ने क्यूबा पर अमरीकी आर्थिक प्रतिबंधों को हटाने और गुआंतानामो बे जेल को बंद करने की मांग दोहराई.

तो ओबामा ने पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा, "क्यूबा का भविष्य क्यूबा के लोग ही तय करेंगे."

मानवाधिकार के रिकॉर्ड का बचाव करते हुए क्यूबा के राष्ट्रपति ने कहा, "हम मानवाधिकार की रक्षा करते हैं, नागरिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक और सामाजिक अधिकार अविभाजनीय, आपस में संबंधित और वैश्विक हैं."

उन्होंने अमरीका को स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में क्यूबा की सरकारी नीतियों से सीख लेने की नसीहत दी.

इमेज कॉपीरइट EPA

तो ओबामा ने कहा कि आर्थिक पाबंदियां हटाना अमरीकी कांग्रेस के हाथ में है लेकिन ये मानवाधिकार जैसे मुद्दों पर दोनों देशों के बीच बातचीत पर निर्भर करता है.

ओबामा ने कहा, " पचास साल से जो हमने किया है वो हमारे या क्यूबा के लोगों के हित में नहीं था."

वहीं कास्त्रो से राजनीतिक बंदियों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें राजनीति बंदियों की सूची दी जाए तो वो उन्हें तुरंत रिहा करवाएंगे.

क्यूबा की यात्रा करने वाले ओबामा 1959 के बाद पहले सत्तारूढ़ राष्ट्रपति हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार