चरमपंथी 'सोने में तोले जाने के क़ाबिल'

इमेज कॉपीरइट AFP

सालेह अब्देसलाम के वकील ने जांचकर्ताओं से कहा कि वह सोने में तोले जाने के क़ाबिल हैं. बीते साल हुए पेरिस हमलों के आरोप में उन्हें पिछले सप्ताह बेल्जियम में गिरफ़्तार किया गया था.

उनके वकील सवेन मैरी ने कहा कि वह सहयोग कर रहे हैं. वह अपने चुप रहने के अधिकार को जारी नहीं रख रहें हैं.

अब्देसलाम ब्रसेल्स में एक अपार्टमेंट में रेड के दौरान पकड़े गए थे और पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है.

उन्होंने कहा कि उनके मुवक्किल अकेले ऐसे जीवित व्यक्ति हैं जिन्हें हमलों में शामिल होने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है.

हालांकि, मैरी ने मीडिया में आ रही उन रिपोर्टों से इंकार किया है जिनमें कहा जा रहा है कि अगर 26 वर्षीय अब्देसलाम पर नरमी बरती गई तो वो इसके बदले पुलिस के मुखबिर बन सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट reuters

अब्देसलाम बेल्जियम में जन्में फ्रांसीसी नागरिक हैं. उन्हें यूरोप में सर्वाधिक वांछित भगोड़ा घोषित किया जा चुका है और अब वह फ्रांस में प्रत्यर्पण की लड़ाई लड़ रहे हैं.

अब्देसलाम के वकील ने पहले फ्रांस के जांचकर्ता फ्रांकोइस मॉलिन्स पर मुक़दमा करने की धमकी दी थी. उनका कहना था कि मॉलिन्स ने पत्रकारों से कहा कि अब्देसलाम अन्य हमलावारों के साथ ख़ुद को उड़ा देना चाहते थे, लेकिन बाद में उन्होंने अपना मन बदल लिया था.

मैरी ने कहा कि ये न्यायायिक गोपनीयता का उल्लंघन था. उधर मॉलिन्स ने कहा कि उनके पास जांच की प्रगति का उद्देश्यपूर्ण तरीक़े से ख़ुलासा करने का अधिकार था.

इमेज कॉपीरइट Associated Press

मैरी ने कहा कि उनके मुवक्किल फ्रांस स्थानांतिरत करने की लड़ाई लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि ये साफ़ है कि अब्देसलाम फ्रांस जा रहें हैं लेकिन ये जांच कर रहे न्यायाधीश के निर्णय पर निर्भर है कि वह कब जाते हैं.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसुवा ओलांद ने कहा कि इस हमले की साज़िश में शामिल लोग वास्तव में सोची गई संख्या से काफ़ी अधिक हैं. वह चाहते है कि अभियोग का सामना करने के लिए अब्देसलाम का जल्द से जल्द फ्रांस स्थानांतरण कर दिया जाए.

इमेज कॉपीरइट PoetryAgainstTerror

पेरिस से बीबीसी के लूसी विलियमसन ने बताया कि हमले में मारे गए रिश्तेदारों ने अब्देसलाम की गिरफ़्तारी से राहत की सांस ली है. उन्हें आशा है कि उनसे अधिक सूचना मिल सकती है.

नवंबर हमले के बाद बनाए गए एक समर्थन समूह ने अपने संदेश में कहा कि हम आशा करते है कि उसकी गिरफ़्तारी से सच को तलाशने में मदद मिलेगी.

उधर फ्रांस ने अब्देसलाम की गिरफ़्तारी के बाद सुरक्षा बढ़ा दी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार