जील्मा रूसेफ़ पर महाभियोग का खतरा बढ़ा

जिल्मा रूसेफ़ इमेज कॉपीरइट Getty

ब्राज़ील के सत्ताधारी गठबंधन को करारा झटका लगा है. इसके सबसे बड़े सहयोगी दल ने खुद को राष्ट्रपति जील्मा रूसेफ़ की सरकार से अलग कर लिया है.

ब्राज़ीलियन डेमोक्रेटिक मूवमेंट पार्टी यानी पीएमडीबी के मंत्री इस्तीफ़ा देंगे. इसके साथ ही सरकार की तरफ़ से नियुक्त करीब 600 अधिकारी भी अपना पद छोड़ देंगे.

पीएमडीबी के कदम से राष्ट्रपति जील्मा रूसेफ़ पर महाभियोग का खतरा बढ़ गया है.

महाभियोग की प्रक्रिया चलाने वाली संसदीय कमेटी में उनके विरोधियों को अब बहुमत हासिल हो गया है.

विश्लेषकों का कहना है कि चेम्बर ऑफ़ डेपुटीज़ अप्रैल के मध्य में महाभियोग पर मतदान करा सकता है. यदि सीनेट में इसे समर्थन मिलता है तो उन्हें 180 दिनों के लिए निलंबित कर दिया जाएगा और संसद उनके ख़िलाफ़ ब्राज़ील के घाटे को छिपाने के आरोपों की जांच करेगी.

रूसेफ़ इन आरोपों का खंडन करती हैं.

जील्मा रूसेफ़ सरकारी तेल कंपनी पेट्रोब्रास के घोटाले से जुड़े आरोपों का भी सामना कर रही हैं.

संभावना है कि वित्त मंत्री नेल्सन बारबोसा गुरुवार को संसदीय महाभियोग कमेटी को सबूत सौपेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार