ऐपल की मदद के बिना आईफ़ोन अनलॉक

संदिग्ध का आईफ़ोन इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी न्याय मंत्रालय ने बताया है कि जांच एजेंसी एफ़बीआई ने सैन बर्नारडिनो में गोलीबारी करने वाले सैयद रिज़वान फ़ारूक़ के आईफ़ोन को ऐपल की मदद के बग़ैर अनलॉक कर लिया है.

ऐपल ने फ़ारूक़ के आईफ़ोन का लॉक तोड़ने में मदद करने के अदालत के आदेश का विरोध किया था.

इसके लिए ऐपल को एक नया सॉफ्टवेयर बनाना पड़ता जिसकी मदद से अधिकारी फ़ारूक़ के फोन को अनलॉक कर पाते.

लेकिन एफ़बीआई ने सोमवार को कहा कि आईफ़ोन का लॉक बिना मदद खोला गया है और अदालत से इस बारे में अपना आदेश वापस लेने की अपील की गई है.

सैयद रिज़वान फ़ारूक़ और उनकी पत्नी तशफ़ीन मलिक ने कैलिफ़ॉर्निया के सैन बर्नारडिनो में पिछले साल दिसंबर में गोलीबारी कर 14 लोगों की हत्या कर दी थी.

बाद में पुलिस की कार्रवाई में दोनों पति पत्नी भी मारे गए.

इमेज कॉपीरइट Getty

एफ़बीआई फ़ारूक़ के आई फ़ोन के डेटा की जांच करना चाहती है ताकि पता लगाया जा सके कि उन्हें अन्य लोगों से मदद मिली थी या नहीं.

अमरीकी अधिकारियों ने कहा था कि तशफ़ीन मलिक ने गोलीबारी के दिन सोशल मीडिया पर चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के प्रति समर्थन जताया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार