इज़्ज़त के नाम पर 1100 औरतों का क़त्ल

इमेज कॉपीरइट

पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग का कहना है कि पिछले साल मुल्क भर में 1100 महिलाओं की ऑनर किलिंग हुई.

जबकि जबकि इज़्ज़त के नाम पर क़त्ल होने वाले मर्दों की तादाद 88 थी.

शुक्रवार को वर्ष 2015 के लिए जारी एक रिपोर्ट में कहा गया कि पिछले साल देश में 833 औरतों को अग़वा किए जाने के मामले दर्ज हुए.

लेकिन जुर्म में शामिल लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई के बहुत कम मामले देखे गए.

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि इस अवधि में 939 महिलाओं को शारीरिक हिंसा का शिकार बनाया गया. जबकि 777 औरतों ने आत्महत्या की कोशिश की.

इमेज कॉपीरइट Getty

पाकिस्तान में फांसी की सज़ा पर से लगी रोक हटने के बाद 47 औरतें सज़ा का इंतज़ार कर रही हैं.

हालांकि आयोग का कहना है कि इन लोगों को सही क़ानूनी सुविधा नहीं मुहैया कराई गई.

बच्चों के ख़िलाफ़ होने वाली यौन हिंसा में साल 2015 में पिछले साल के मुक़ाबले सात फ़ीसदी का इज़ाफ़ा हुआ. जबकि देशभर में शारीरिक हिंसा के कुल 3768 मामले दर्ज हुए.

शारीरिक हिंसा का शिकार होनेवालों की उम्र 11 से 15 साल के बीच है.

रिपोर्ट में इस बात का ज़िक्र है कि मुल्क में प्रतिदिन 10 बच्चों के ख़िलाफ़ शारीरिक हिंसा का मामला दर्ज किया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार