'दस्तावेजों में जिनपिंग के रिश्तेदारों के नाम'

शी जिनपिंग इमेज कॉपीरइट afp

पनामा से लीक हुए दस्तावेज़ों में चीन के सात मौजूदा और पूर्व नेताओं के तार विदेशी फर्म से जुड़े बताए गए हैं.

इन दस्तावेज़ों में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के परिवार के सदस्यों के नाम हैं. इनमें चीन की शक्तिशाली स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य झांग गाओली और लियू युन्शान के रिश्तेदारों के नाम भी हैं.

तीनों के रिश्तेदारों के नाम टैक्स बचाने की पनाहगाहों में फर्म डॉयरेक्टर या फिर शेयर धारकों के तौर पर दर्ज हैं.

पनामा लीक: ऐसे होती है माल-मिलकियत छिपाने की हेरा-फेरी

चीन की सरकार ने अब तक इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

इमेज कॉपीरइट ap

ये नाम पनामा की कंपनी मोसाक फोंसेका के एक करोड़ दस लाख गोपनीय दस्तावेज़ लीक होने के बाद सामने आए हैं.

मोसाक फोंसेका को दुनिया में सबसे ज़्यादा गोपनीयता से काम करने वाली कंपनियों में से एक माना जाता है.

लीक हुए दस्तावेज़ों से पता चलता है कि मोसाक फोंसेका ने किस तरह अपने ग्राहकों के काले धन को वैध बनाने, प्रतिबंधों से बचने और कर चोरी में मदद की.

पनामा पेपर्स पर नज़र है, कार्रवाई होगी: जेटली

कंपनी का कहना है कि वो लगभग 40 वर्ष से बिना किसी दाग़ के काम कर रही है और उस पर कुछ ग़लत करने का आरोप कभी नहीं लगा.

इमेज कॉपीरइट afp

चीन का सरकारी मीडिया नेताओं के परिवारों से जुड़ी खबरों को प्रसारित नहीं कर रहा है. चीन के सोशल मीडिया पर भी इससे जुड़ी खबरों को सेंसर किया जा रहा है.

चीन के नागरिकों का विदेश में कंपनी बनाना गैरकानूनी नहीं है.

'पुतिन के दोस्त ने करोड़ों डॉलर बनाए'

हालांकि चीन के कम्युनिस्ट अधिकारी सत्ता की स्थिति का फायदा उठाकर लाभ कमाने को हतोत्साहित करते हैं.

पार्टी संविधान के मुताबिक उनके परिवार के सदस्यों से उम्मीद नहीं की जाती कि वो उनसे संबंधों का फायदा उठाएं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार