चीन में एक वीडियो ने मचाई सनसनी

इमेज कॉपीरइट Wanwan 2016

चीन में एक वीडियो फुटेज को लेकर भारी बहस शुरू हो गई है जिसमें बीजिंग के एक होटल में एक महिला पर हमला होते हुए दिखाया गया है.

सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि कुछ लोग होटल के कॉरिडोर में एक महिला को घसीट रहे हैं और खींचतानी कर रहे हैं, जबकि वहां खड़े लोग चुपचाप ये सब देख रहे हैं.

हालांकि इस मामले अभी जांच हो रही है, लेकिन सोशल मीडिया पर इसे लेकर लाखों लोगों ने अपनी नाराज़गी जताई है.

इस घटना के वीडियो को दो अरब बार देखा गया है.

चीन में हाल के सालों में ऐसी घटनाएं कई बार देखने को मिली हैं जबकि पास ही मौजूद लोगों ने जरूरतमंद व्यक्ति की मदद नहीं की है.

बीजिंग की पुलिस का कहना है कि घटना की जांच हो रही है और होटल चलाने वाली कंपनी ने इसे लेकर माफ़ी मांगी है.

ये वीडियो चीनी सोशल मीडिया वाइबो पर इसी हफ़्ते एक महिला ने अपलोड किया गया था, जिसका ऑनलाइन नाम 'वानवान' है.

इमेज कॉपीरइट Wanwan 2016

वानवान का कहना है कि ईटेल होटल के कॉरिडोर में एक आदमी उनके पास गया और पूछा कि वो कौन से कमरे में ठहरी हुई है.

"मैंने कहा, 'तुम क्या चाहते हो?' मैं तुम्हें नहीं जानती और फिर उसने मुझे घसीटना शुरू कर दिया. उसने मेरी गर्दन और चेहरे को ऐसे पकड़ा ताकि मैं सांस न ले पाऊं."

"जब मैंने सीढ़ियां उतर कर भागने की कोशिश की, तो उसने मेरे बाल पकड़ लिए और ज़ीने के पास ले गया."

वानवान का कहना है कि होटल के एक कर्मचारी ने ये सब देखा लेकिन उसने समझा कि पति-पत्नी आपस में लड़ रहे हैं और उसने कोई दख़ल नहीं दिया.

वीडियो में देखा जा सकता है कि होटल के कर्मचारी और वहां ठहरे लोगों ने इस पूरे घटनाक्रम को देखा लेकिन ज़्यादातर लोगों ने बीच में न पड़ना ही बेहतर समझा.

आख़िरकार एक व्यक्ति ने महिला की मदद की और उसे वहां से ले गया.

ईटेल होटल चलाने वाली कंपनी होमाइंस ने वानवान और आम लोगों से माफी मांगी है.

ये वीडियो चीनी सोशल मीडिया पर भारी बहस का मुद्दा बना हुआ है. सवाल किया जा रहा है कि लोग अजनबियों की मदद क्यों नहीं करते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार