पाकिस्तानः पोलियो टीम पर हमले में 7 की मौत

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मारे गए पुलिसवालों के परिजन

पाकिस्तान के कराची में पोलियो टीम की सुरक्षा में लगे तीन गार्ड समेत सात पुलिसवालों की गोली मारकर हत्या कर दी गई है.

अधिकारियों ने पाकिस्तान ट्रिब्यून को बताया कि मोटरसाइकिल पर सवार आठ बंदूकधारियों ने तीन गार्डों पर हमला किया. बंदूकधारियों ने बाद में एक गाड़ी पर भी हमला किया जिसमें चार अधिकारी मौजूद थे.

इस्लामिक चरमपंथी टीकाकरण का विरोध करते हैं, उनका कहना है कि यह पाकिस्तानी बच्चों को बांझ बनाने की पश्चिमी देशों की साज़िश है.

जनवरी में भी पाकिस्तानी शहर क्वेटा में एक टीकाकरण केन्द्र पर बम हमले में 15 लोगों की मौत हुई थी.

ट्रिब्यून के मुताबिक़ गृहमंत्री के आदेश के बाद भी कराची में पोलियो कार्यकर्ताओं ने टीकाकरण अभियान रोक दिया है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पाकिस्तान में पोलियो कार्यक्रम पर पहले भी कई बार हमले हो चुके हैं.

पाकिस्तानी अख़बार डॉन के मुताबिक पुलिस ने इस हत्याकांड के ज़िम्मेदार लोगों की सूचना देने पर 50 लाख़ रुपये के इनाम की घोषणा की है. इसके अलावा मारे गए पुलिसवालों के परिवार को 2-2 लाख रुपये का मुआवज़ा देने की घोषणा की गई है.

सिंध पुलिस के महानिदेशक एडी ख़्वाजा को रिपोर्टरों से बातचीत करते हुए देखा गया है, जिसमें वो कह रहे हैं, "हमारे बच्चों को किसी भी क़ीमत पर पोलियो की ख़ुराक दी जाएगी."

उन्होंने कहा कि पोलियो टीम की सुरक्षा भी बढ़ाई जाएगी.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अफ़गानिस्तान के अलावा पाकिस्तान में पोलियो अब भी एक बड़ा ख़तरा है.

अफ़गानिस्तान के अलावा पाकिस्तान ऐसा देश है जहां पोलियो एक बड़ा ख़तरा है. यहां चरमपंथियों ने कई बार पोलियो कार्यक्रम को निशाना बनाया है और दिसंबर 2012 से अब तक क़रीब 80 लोगों की हत्या कर दी है.

पाकिस्तान में 2014 में 300 से ज़्यादा पोलियो के मामले दर्ज हुए थे, यह आंकड़ा 1999 के बाद सबसे ज़्यादा है.

पोलियो एक बड़ी संक्रामक बीमारी है, जो वायरस की वजह से फैलती है. यह मूल रूप से पांच साल के कम उम्र के बच्चों को निशाना बनाती है. इसकी वजह से नर्वस सिस्टम प्रभावित होता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार