हिल्सबोरो में गैरक़ानूनी तरीके से गई जान

हिल्सबोरो इमेज कॉपीरइट Getty

ब्रिटेन में हिल्सबोरो खेल हादसे के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया कि लोगों की जान गैरक़ानूनी तरीके से गई.

पीड़ित परिवारों ने इस फैसले पर संतोष जताते हुए माना है कि आखिरकार उनके साथ न्याय हुआ.

1989 में एक फुटबॉल मैच के दौरान 96 फैन दब कर मर गए थे. हादसा उत्तरी इंग्लैंड के हिल्सबोरो स्टेडियम में हुआ था.

इमेज कॉपीरइट Getty

पहले के मुकदमे में इस मामले को महज हादसा बताया गया था.

2012 में एक स्वतंत्र जांच ने इस बात की पुष्टि कर दी कि पुलिस ने अपनी नाकामी छिपाने के लिए पीड़ितों पर आरोप मढ़ दिए थे.

फैसला सुनाने वाली ज्यूरी ने मैच कमांडर सुपरिटेंडेंट डेविड डुकेनफील्ड को ‘’बड़ी लापरवाही की वजह से नरसंहार का जिम्मेदार’’ माना है.

ज्यूरी ने कहा है कि एफए कप सेमीफाइनल मैच के दौरान हुए हादसे में पुलिस की गलतियों से स्थिति खतरनाक हो गई.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने इस मामले में न्याय के लिए अभियान चलाने वालों का आभार जताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)