इस्लामिक स्टेट के 5300 करोड़ धुआं-धुआं

इस्लामिक स्टेट पर हमला इमेज कॉपीरइट Departamento de Defesa dos EUA

एक अमरीकी सैन्य अधिकारी के मुताबिक़ चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट की 80 करोड़ डॉलर यानी क़रीब 53 अरब 15 करोड़ रुपए की नक़दी हवाई हमलों में बर्बाद हो गई है.

बग़दाद में मौजूद मेजर जनरल पीटर गर्स्टेन ने बताया कि अमरीका लगातार इस संगठन के धन के भंडार को निशाना बना रहा है.

इतने बड़े नुक़सान की वजह से इस्लामिक स्टेट में 90 फ़ीसदी दलबदल के मामले सामने आए हैं और नई भर्तियां भी काफ़ी कम हो गईं हैं.

इमेज कॉपीरइट Manbar.me

2014 में अमरीकी कोष ने आईएस को सबसे अमीर चरमपंथी संगठन बताया था, जिससे उनका सामना हुआ.

आईएस के ख़िलाफ़ ख़ुफ़िया ऑपरेशन के उपकमांडर गर्स्टेन ने बताया कि संगठन के धन भंडारों पर क़रीब 20 हवाई हमले किए गए.

हालांकि उन्होंने यह साफ़ नहीं किया कि अमरीका को बर्बाद हुई रकम की सही मालूमात कैसे हुई.

इमेज कॉपीरइट AP

उन्होंने बताया कि एक मामले में इराक के मोसुल शहर में एक घर में रखी 15 अरब डॉलर से ज़्यादा नक़दी बर्बाद कर दी गई.

गर्स्टेन का कहना है कि ख़ुफ़िया सूचना मिली थी कि घर के किस कमरे में यह पैसा छिपाकर रखा गया था. इसके बाद उस पर बम गिराए गए.

उन्होंने माना कि बर्बाद हुई नक़दी के सही-सही आंकड़े का पता लगाना मुश्किल है पर इसे 33 अरब से 53 अरब के बीच आंका जा रहा है.

तेल कुओं पर क़ब्ज़े के बाद पिछले साल अनुमान लगाया गया था कि इस्लामिक स्टेट के पास क़रीब दो अरब डॉलर का बजट और साढ़े 25 अरब डॉलर से ज़्यादा पैसा था.

तब से इस्लामिक स्टेट ने अपने कई इलाक़े और तेल क्षेत्रों को खो दिया है और अमरीकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेना ने उन पर हवाई हमले किए हैं.

इस साल फ़रवरी में व्हाइट हाउस ने जानकारी दी थी कि इस्लामिक स्टेट के पास 31500 लड़ाकुओं के मुक़ाबले अब 25 हज़ार लड़ाकू ही बचे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार