हटाई गईं ब्राज़ीली राष्ट्रपति, कहा 'तख़्तापलट'

इमेज कॉपीरइट AP

ज़िल्मा रूसेफ़ ने कहा है कि वो महाभियोग प्रस्ताव के ख़िलाफ़ हर तरह की क़ानूनी लड़ाई लड़ेंगी.

ब्राज़ील में सिनेट ने राष्ट्रपति ज़िल्मा रूसेफ़ को पद से हटाने के लिए महाभियोग प्रस्ताव पास कर दिया है.

निचले सदन ने महाभियोग को पहले ही हामी दे दी थी.

इमेज कॉपीरइट AFP

रूसेफ़ के निलंबन के बाद उनकी जगह उप-राष्ट्रपति मिशेल टेमेयर को राष्ट्रपति बनाया जाएगा. उन्होंने हेनरिक मेरेलिस को पहले ही अपना वित्त मंत्री चुन लिया था.

रूसेफ़ ने सुप्रीम कोर्ट में इस कार्यवाई पर रोक लगाने की अपील की थी लेकिन कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया. उनके निलंबन के साथ 13 साल से ब्राज़ील में उनकी वर्कर्स पार्टी का शासन भी ख़त्म हो गया है.

रूसेफ़ के ख़िलाफ़ बजट में इस तरह के हेरफेर का आरोप है जिससे देश की वित्तीय स्थिति बेहतर लगने लगी थी.

रूसेफ़ के ख़िलाफ़ आरोपों की जांच 180 दिन यानि 6 महीनों तक चल सकती है.

इमेज कॉपीरइट AP

रूसेफ़ इन आरोपों से इंकार करती रही हैं.

उन्होंने गुरूवार को राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने कुछ ग़लत नहीं किया है. उन्होंने महाभियोग को सत्तापलट क़रार दिया और कहा है कि ये मुल्क को अस्थिरता की तरफ़ ले जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार