बोको हराम के कब्ज़े से दूसरी लड़की छुड़ाई गई

इमेज कॉपीरइट AFP

नाइजीरिया की सेना के मुताबिक चीबॉक शहर से अगवा की गई लड़कियों में से दूसरी स्कूली लड़की भी मिल गई है.

इसी सप्ताह एक और लड़की मिल चुकी है.

बोको हराम ने यहां से 200 से ज़्यादा लड़कियों को अगवा कर लिया था.

नाइजीरिया सेना के प्रवक्ता कर्नल उस्मान सानी ने बताया कि उत्तरी पूर्वी बोरनो राज्य में सेना के ऑपरेशन में बचाई गईं 97 महिलाओं और बच्चों में से सेराह लुका नाम की ये लड़की भी शामिल है.

ये दूसरी लड़की पहली चीबॉक लड़की अमीना अली न्केक के मिलने के दो दिन बाद मिली है.

इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर पूर्वी नाइजीरिया के एक सेकेंडरी स्कूल से 2014 में इस्लामिक चरमपंथी समूह बोको हराम ने 200 से ज़्यादा लड़कियों को अगवा कर लिया था जिसके बाद अब तक उनका पता नहीं चला था.

ताज़ा अॉपरेशन के दौरान सेना ने बोको हराम के 35 से ज़्यादा चरमपंथियों को मार डालने और हथियार, गोला बारूद व अन्य चीजें बरामद करने का दावा किया. इसके साथ ही उन्होंने बोको हराम के कब्ज़े से 97 औरतों और बच्चों को बचाया.

कर्नल उस्मान ने बताया कि सेना का अॉपरेशन बोरनो के डेम्बो इलाके में चलाया गया.

इससे पहले गुरुवार को मिली पहली 19 वर्षीय चीबॉक लड़की अमीना, राष्ट्रपति मुहाम्मादु बुहारी से मिलने राजधानी अबुजा रवाना हो गई.

इमेज कॉपीरइट AFP

बुहारी ने कहा कि, "मुझे दुख भी है कि इस लड़की को इतनी छोटी सी उम्र में इतनी भयावह स्थिति से गुजरना पड़ा. लेकिन संतोष की बात ये है कि लड़की अब वापस आ गई है और अपनी पढ़ाई दोबारा शुरू कर सकती है."

अमीना बोको हराम के एक संदिग्ध सदस्य के साथ थी.

नाइजीरिया में सक्रिय बोको हराम ने इन लड़कियों को उत्तर-पूर्वी शहर चीबॉक के उनके हॉस्टल से 14 अप्रैल 2014 की रात अगवा किया था. उन्होंने 276 लड़कियों को ट्रकों में लादा.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इनमें से 50 से ज़्यादा लड़कियां ट्रकों से छलांग लगाकर या फिर जंगल में भागने के कारण बच गई थीं. लेकिन कुल 219 लड़कियां बोको हराम के कब्ज़े में थीं.

इसके बाद उनकी रिहाई के लिए नाइजीरिया के साथ-साथ दुनिया भर के कई देशों में अभियान तेज़ किया गया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

सोशल मीडिया पर 'ब्रिंग बैक अवर गर्ल्स' के नाम से प्रचार में कई देशों के बड़े नेता जुड़े थे.

बोको हराम की स्थापना 2002 में की गई थी और इसके नाम का मतलब है- 'पश्चिमी शिक्षा प्रतिबंधित है.'

इस संगठन ने 2009 में हमले शुरू किए और नाइजीरिया में इसके हमलों में सैकड़ों लोग मारे गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार