पाक में जगह-जगह जलाए गए अमरीकी झंडे

हाफ़िज सईद इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान के चरमपंथी संगठन जमात उद दावा के मुखिया हाफ़िज सईद ने कहा है कि ड्रोन हमले के मार्फ़त पाकिस्तानी सरहद का उल्लंघन किसी क़ीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

शुक्रवार को देश भर के इस्लामी कट्टरपंथी संगठनों ने अमरीकी ड्रोन हमलों के ख़िलाफ़ 'काला दिवस' मनाया और बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन आयोजित किया.

पाकिस्तान के प्रतिष्ठित अख़बार डॉन के मुताबिक़, प्रदर्शनकारियों ने लाहौर, इस्लामाबाद, हैदराबाद, कराची, मुल्तान और पेशावर में प्रदर्शन कर अमरीकी झंडे जलाए.

कई इस्लामी संगठनों की परिषद मिल्ली यकजहती काउंसिल की एक बैठक में अमरीकी ड्रोन हमलों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन का आह्वान किया गया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

इस दौरान मस्जिदों में साम्प्रदायिक सद्भाव के लिए नमाज़ें पढ़ी गईं.

हाल ही में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पाकिस्तान में ड्रोन हमलों को जारी रखने की बात कही थी.

इमेज कॉपीरइट AP

इस बयान पर पाकिस्तान में काफ़ी विवाद पैदा हुआ और देश की कई राजनीतिक दलों व धार्मिक संगठनों ने ओबामा के बयान को युद्ध की खुली घोषणा और पाकिस्तान की एकता और सम्प्रभुता पर हमला क़रार दिया है.

पाकिस्तानी सरहद के अंदर अमरीकी ड्रोन हमले में ही अफ़गानिस्तान के पूर्व तालिबान प्रमुख मुल्ला अख़्तर मंसूर की मौत हुई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार