फलुजा को आईएस से छुड़ाने की निर्णायक जंग

फलुजा

इस्लामिक स्टेट के क़ब्ज़े वाले फ़लुजा शहर पर नियंत्रण के लिए सरकारी फौजों ने निर्णायक लड़ाई छेड़ दी है.

लगभग दो साल से यह शहर जिहादियों के क़ब्जे में है.

सोमवार की सुबह से जिहादियों और सरकारी सुरक्षा बलों के बीच जबरदस्त गोलीबारी हो रही है.

अनुमान है कि दसियों हज़ार नागरिक इस शहर में फंसे हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

एक सरकारी बयान के मुताबिक़, ताज़ा हमला सरकार के इलीट काउंटर टेररिज़्म फ़ोर्स की अगुवाई में हो रहा है. इसमें अमरीकी विमान हवाई हमलों से सरकारी सुरक्षा बलों को मदद दे रहे हैं.

सरकारी फौजों ने शहर पर एक साथ तीन ओर से हमला बोला है. शहर की सप्लाई लाइन काट दी गई है और आईएस चरमपंथियों के निकलने के सभी संभावित रास्तों को सील कर दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

सरकारी सुरक्षा बलों को कथित तौर पर आईएस जिहादियों की ओर से कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ रहा है. चरमपंथी लड़ाके बमबारी और सुसाइड हमलों से सुरक्षा बलों को रोकने की कोशिश कर रहे हैं.

माना जा रहा है कि शहर में आईएस के 1,200 लड़ाके हैं, जिनमें से अधिकांश इसी शहर के हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

इस बीच आईएस लड़ाकों ने देश की राजधानी बग़दाद में और इसके बाहरी इलाक़ों में जबरदस्त बमबारी शुरू कर दी है, जिसमें कम से कम 20 लोग मारे गए हैं.

बीबीसी संवाददाता ज़िम मुईर ने बग़दाद से बताया है कि ऐसा लगता है कि अभी लड़ाई फ़लुजा के बाहरी इलाक़े में आईएस की चौकियों के आस पास केंद्रित है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार