औरतें बोलीं 'हाथ लगाकर दिखाओ तो...'

पाकिस्तानी महिला की तस्वीर इमेज कॉपीरइट Other

'दुनिया चांद से भी आगे निकल गई है लेकिन हमारे यहां अब भी इसी मुद्दे पर बहस हो रही है कि औरत को कैसे मारा पीटा जाए.'

ये मैसेज पाकिस्तानी सोशल मीडिया में ख़ूब शेयर किया जा रहा है.

वजह है हाल ही में पाकिस्तान में आया वो प्रस्ताव जिसके तहत पत्नी की हल्की पिटाई को सही ठहराया गया था.

महिलाओं की सुरक्षा से संबंधित 'मॉडल' क़ानून बनाने के इस मसौदा विधेयक को काउंसिल ऑफ़ इस्लामिक आइडियोलॉजी (सीआईआई) में रखा गया है.

पढ़ें- बीवी की 'पिटाई कर सकने' वाले प्रस्ताव पर बहस

पाकिस्तानी फ़ोटोग्राफर फ़हद राजपेर ने 12 पेशेवर महिलाओं की तस्वीरें ट्विटर पर इस विषय पर उनके संदेश के साथ साझा की हैं.

इसी के बाद से #TryBeatingMeLightly पाकिस्तान में ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है.

सुमैरा जमील (@realsumera_ ) ने ट्विटर पर लिखा, "सभी पैगंबर की उस हदीस को फैलाएं जिसमें कहा गया है कि एक अच्छा आदमी महिलाओं का सम्मान करता है."

पेशे से डॉक्टर शग़ुफ़्ता के हवाले से उन्होंने लिखा है, "मुझे पीटने की कोशिश करो, मैं उस हाथ को तोड़ दूंगी जो तुम मुझ पर उठाओगे. बाक़ी जो होगा उसे अल्लाह पर छोड़ दूंगी."

इमेज कॉपीरइट Other

मरयम शब्बीर (@maryamshabbir08) लिखती हैं, "मुझे हल्के से मारने के बजाए आप मुझे प्यार और सम्मान दो और मैं कभी आपकी अवज्ञा नहीं करूंगी."

महिलाएं उस पोस्टर को भी ख़ूब साझा कर रही हैं जिस पर लिखा है, "पैगंबर ने कभी किसी महिला पर हाथ नहीं उठाया."

आमना सबाहत ने ट्वीट किया, "कोई भी पुरुष जो सोचता है कि महिला को पीटना सही है वो बीमार है और उसे मनोचिकित्सक से अपना इलाज कराना चाहिए. पैगंबर ने कभी किसी महिला को नहीं पीटा."

वहीं अनम ख़ान (@anamk10) लिखती हैं, "मुझे हल्के से पीटने की कोशिश करो और मैं तुम्हें बर्बाद कर दूंगी. इस्लामी विचारधारा परिषद (सीआईआई) भाड़ में जाए, उनका महिलाओं को पीटने का प्रस्ताव घटिया मज़ाक है."

आएशा लिखती हैं, "मुझे मारने की कोशिश करो और तुम राख हो जाओगे. ऐसा कोई भी रिश्ता जिसमें शोषण हो, बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार