जापानी बच्चे ने अपने पिता को माफ़ किया

अस्पताल से घर जाता यामाटो टानूका होकाइडो . इमेज कॉपीरइट AP

जापान में जंगल से बरामद किए गए सात साल के बच्चे के पिता ने कहा है कि उनके बेटे ने उन्हें माफ़ कर दिया है.

यामाटो टानूका होकाइडो के माता-पिता ने 28 मई को उन्हें जापान के उत्तरी द्वीप होक्काइदो के पास रोड के किनारे छोड़ दिया था.

राहत और बचावकर्मियों ने उन्हें कई दिन की मेहनत के बाद बच्चे को सेना के अभ्यास क्षेत्र में बने एक घर में खोजा था.

उनका कहना था कि बच्चे की शैतानियां बढ़ गई थीं. पिता के अनुसार बच्चा लोगों और गाड़ियों पर पत्थर फेंकता था, इसलिए उसे सज़ा के तौर पर सड़क किनारे छोड़ा गया था.

इसके कुछ देर बाद जब वो बच्चे को लेने उस जगह पर पहुंचे तो वो वहां नहीं मिला. इसके बाद बच्चे के लिए तलाशी अभियान शुरू किया गया.

शुक्रवार को सेना के अभ्यास वाले इलाक़े में बने एक घर से बच्चे को बरामद किया गया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस ख़बर के सामने आने के बाद से जापान में बच्चों के लालन-पालन को लेकर बहस शुरू हो गई है.

बच्चे के पिता ने टीबीएस को दिए इंटरव्यू में कहा, ''मैंने उनसे कहा, पिता ने आपको बहुत मुश्किल में डाल दिया था, मुझे माफ़ कर दो.''

बच्चे ने कहा, ''इसके बाद मेरे बेटे ने कहा, आप अच्छे पिता हैं, मैंने आपको माफ़ कर दिया.''

बच्चे को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया था, जहां से उन्हें मंगलवार को छुट्टी दे दी गई.

अख़बार 'दी मिनाची' के मुताबिक़, बच्चे ने कहा कि वो घंटों रोता रहा और क़रीब पांच किमी पैदल चलकर उस घर में पहुंचा जहां से उसे आख़िरकार बरामद किया गया.

इमेज कॉपीरइट AP

वो दो गद्दों के बीच में सोता था. बच्चे ने अख़बार को बताया कि वो घर में लगे टोटी से पानी पीता था. लेकिन छह दिनों तक उसने कुछ खाया नहीं था.

राहत और बचाव कर्मियों ने जब यामाटो टानूका को खोजा तो उसके शरीर में पानी की थोड़ी कमी थी, वो कमज़ोर हो गया था और उसके हाथ-पैर में खरोचें आई थीं. इसके अलावा उसका स्वास्थ्य ठीक था.

पुलिस ने कहा है कि वो यामाटो टानूका के माता-पिता पर कोई आरोप नहीं लगा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)