किम जोंग उन खुद सिगरेट पीते हैं

किम जोंग इमेज कॉपीरइट GETTY

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन को क़रीब दो महीने में पहली बार सार्वजनिक तौर पर सिगरेट पीते हुए देखा गया है.

इस घटना ने हर किसी को हैरत में डाल दिया है क्योंकि उत्तर कोरिया अप्रैल से ही धूम्रपान के ख़िलाफ़ अभियान चला रहा है.

4 जून को सरकारी अख़बार रोदोंग सिनमून ने एक फ़ोटो जारी किया, इसमें किम जोंग प्योंगयांग में बच्चों के एक कैंप के दौरे में सिगरेट पीते हुए दिख रहे हैं.

किम जोंग को ज़्यादा धूम्रपान करने वाले व्यक्ति के तौर पर जाना जाता है. दक्षिण कोरिया के मीडिया के मुताबिक़ उन्हें पिछले हफ़्ते 80 दिनों में पहली बार सिगरेट के साथ देखा गया.

नॉर्थ कोरिया की केसीएनए न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक़ किम जोंग नए बनाए गए मैंगियोंग्डे चिल्ड्रंस कैंप में 'प्योंगयांग स्पीड' नाम के अभियान को बढ़ावा देने के लिए पहुँचे थे.

इससे पहले किम जोंग को सिगरेट के साथ इसी साल 15 मार्च को अंतिम बार देखा गया था, जब वो देश में बनाए गए एक रॉकेट की जाँच के दौरान मौजूद थे. उस वक़्त यह अनुमान लगाया जा रहा था कि किम जोंग ने सिगरेट पीने की आदत छोड़ दी है.

इमेज कॉपीरइट AFP

एक विश्लेषक ने कहा कि यह समझना मुश्किल है कि उत्तर कोरिया की मीडिया ने यह फ़ोटो क्यों जारी किया, जबकि वहाँ धूम्रपान विरोधी अभियान लगातार चल रहा है. जबकि एक और विश्लेषक मानते हैं कि किम जोंग शायद कैमरे के सामने सिगरेट नहीं पी रहे थे.

जानकारों का कहना है कि किम जोंग ने शायद फिर से सिगरेट पीना शुरू कर दिया है.

उत्तर कोरिया का सरकारी मीडिया देश में इस वर्ष अप्रैल से ही धूम्रपान विरोधी अभियान ज़ोरदार तरीके से चला रहा है. देश में धूम्रपान करने वालो की संख्या काफ़ी ज़्यादा है.

वर्ष 2012 में उत्तर कोरिया के लगभग 50 प्रतिशत पुरुष सिगरेट पीते थे. दक्षिण कोरिया के अख़बार चोसुन इल्बो का कहना है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के वर्ष 2012 के सर्वेक्षण में ये संख्या एशिया के दस देशों में सबसे ज़्यादा थी.

इमेज कॉपीरइट GETTY

उत्तर कोरिया पर नज़र रखने वालों के मुताबिक़ यहाँ सार्वजनिक तौर पर धूम्रपान विरोधी अभियान काफ़ी अनोखा है.

सियोल के कोंकूक यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर चुन योंग सुन का कहना है, "इस नई घटना को उत्तर कोरिया के पुरुषों में धूम्रपान की दर को कम करने की एक बड़ी कोशिश के तौर पर देखा जा सकता है."

केसीएनए के मुताबिक़ 31 मई को उत्तर कोरिया ने विश्व तंबाकू रोधी दिवस पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया था, जिसमें विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि भी मौजूद थे. प्योंगयांग और बाक़ी प्रांतों में तंबाकू के ख़िलाफ़ कई तरह की सूचनाएं लगाई गई थीं."

उसी महीने सरकारी टीवी पर स्थानीय महिलाओं को इस अभियान को बढ़ावा देते हुए दिखाया गया, जिसमें उन्हें सिगरेट पीने की कोशिश करने वाले मर्दों को डाँटते हुए देखा जा सकता है.

( बीबीसी मॉनिटरिंग दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी मॉनिटरिंग की ख़बरें ट्विटर और फेसबुक पर भी पढ़ सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार