हमले रोकने की हर संभव कोशिश: शेख हसीना

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना

बांग्लादेश में धर्मनिर्पेक्ष ब्लॉगरों और अल्पसंख्यकों पर हमलों को लेकर प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने कड़ा रुख़ अख़्तियार करते हुए कहा है कि हमले रोकने के लिए सराकर हर ज़रूरी क़दम उठाएगी.

शेख़ हसीना के इस बयान से ठीक पहले बांग्लादेश में इस्लामिक चरमपंथियों के ख़िलाफ़ मुहीम में पुलिस ने एक हफ़्ते में 1,500 लोगों को गिरफ़्तार किया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

हालांकि विपक्ष का आरोप है कि सरकार इस्लामिक चरमपंथियों के बहाने राजनीतिक विरोधियों को निशाना बना रही है.

शनिवार को आवामी लीग पार्टी की एक बैठक में शेख़ हसीना ने कहा, "इसमें समय लगेगा, लेकिन हम अपराधियों पर लगाम कस पाएंगे."

इस बीच बांग्लादेश में विपक्षी बांग्लादेश नेश्नलिस्ट पार्टी के नेता फख़रूल इस्लाम आलमग़ीर ने कहा कि विपक्ष के सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ़्तार किया है.

उन्होंने समाचार एजेंसी एएफ़पी से कहा, " इस्लामिक कट्टरपंथियों के खिलाफ़ अभियान के नाम पर कई साधारण और निर्दोष लोगों को पकड़ा जा रहा है."

इमेज कॉपीरइट AFP

पिछले कुछ सालों में धर्मनिर्पेक्ष ब्लॉगरों, अकादमिक जगत के लोगों, समलैंगिक अधिकार कार्यकर्ताओं और अल्पसंख्यकों पर हमले हुए हैं जिनमें 40 लोगों की हत्याएं कर दी गई हैं.

बीते शुक्रवार को पबना ज़िले में हिंदू आश्रम के एक सदस्य की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी.

पिछले हफ़्ते एक हिंदू पुजारी, ईसाई दुकानदार और आंतकवाद रोधी पुलिस अधिकारी की पत्नी की हत्या कर दी गई थी.

विश्लेषकों का कहना है कि पुलिस अधिकारी की पत्नी की हत्या के बाद पुलिस हरकत में आई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार