कहावतों में कितना ज्ञान?

वांग चाउ फी
Image caption इन्हें देखकर तो ये हरगिज़ नहीं कहा जा सकता कि हर चमकती चीज़ सोना नहीं होती

मुहावरे, कहावतें, लोकोक्तियाँ, या मसल, ये सारी चीज़ें किसी भाषा और संस्कृति की पहचान होती हैं और इनमें ज्ञान भरा होता है.

अरबी भाषा में एक कहावत है अल-मिस्ल फ़िल कलाम कल-मिल्ह फ़ित-तआम यानी बातों में कहावतों या मुहावरों और उक्तियों की उतनी ही ज़रूरत है जितनी कि खाने में नमक की.

हम अपनी बात में वज़न पैदा करने के लिए इन चीज़ों का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन उर्दू, फ़ारसी और अरबी भाषा में कहावतों की जगह आम तौर पर शेर ने ले ली है और लोग बात-बात में इसका प्रयोग कर अपने ज्ञान और भाषा का रौब जमाते रहते हैं.

यहां मैं अरबी, फ़ारसी या उर्दू की कहावतों या मुहावरों की बात नहीं कर रहा हूँ बल्कि अंग्रेज़ी के कुछ प्रोवर्ब (proverb) की बात करनी है.

तो आइए देखते हैं कुछ ऐसे प्रोवर्ब जो हमारी अपनी भाषा में भी मिलते हैं.

A bad workman quarrels with his tools नाच न जाने आंगन टेढ़ा

Image caption कुत्तों को जहां इंसान का बेहतरीन दोस्त कहा जाता है वहीं इसके बारे में ये कहावत भी काफ़ी प्रचलित है

All that glitters is not gold हर चमकती चीज़ सोना नहीं होती

Barking dogs seldom bite जो गरजते हैं वो बरसते नहीं

Fortune favours braves हिम्मते मरदाँ मददे-ख़ुदा

Too many cooks spoil the broth तीन मुल्ला में मुर्ग़ी हराम या बहुरो जोगी मठ उजाड़

From the frying pan into the fire आसमान से गिरे खजूर में अटके

Empty vessels sound much थोथा चना बाजे घना

As you sow so shall you reap जैसी करनी वैसी भरनी

Old habits die hard बंदर कभी गुलाटी मारना नहीं भूलता

Image caption पानी में महल तो देखा अब हवाई क़िला बनाने की बारी है

Make castles in air हवाई क़िले बनाना

A prophet is never acclaimed at home घर की मुरग़ी दाल बराबर, या घर का जोगी जोगना, आन गाँव का सिद्ध

It is hard to live in Rome and strive against the Pope जल में रह कर मगरमच्छ से बैर

Might is right जिसकी लाठी उसकी भैंस

to add insult to injury जले पर नमक छिड़कना

ये सूची तो काफ़ी लंबी है इसलिए अब और जले पर नमक छिड़कने की कोशिश नहीं होगी वैसे आप ये तो जानते ही हैं---

All is well that ends well अंत भला तो सब भला

संबंधित समाचार