मां-बाप के साथ टीवी देखते वक्त अगर सेक्स सीन आ जाए तो?

आप अपने घर से अलग होकर नहीं रह रहे हैं या फिर आप बाहर रह रहे थे लेकिन अब अपने वापस अपने घर अपने माता-पिता के साथ लौट आए हैं और अकेले नहीं हैं- आप दुनिया में अकेले ऐसे इंसान नहीं हैं, जो अपने माता-पिता के साथ रहते हैं.

एक अनुमान के मुताबिक़, ब्रिटेन में 20 से 34 साल की उम्र वाले 4 में से एक व्यक्ति अब भी अपने माता-पिता के साथ रहते हैं.

कई लोगों के लिए इसकी वजह माता-पिता का अलग घर का खर्च नहीं उठा पाना हो सकती है. लेकिन आप उनके साथ रहते हुए भी खाने और ड्रिंक से भरा फ्रिज जैसी छोटी-छोटी बातों में खुश हो लेते हैं.

बीबीसी थ्री ने आठ युवाओं से बात की, जो अपने माता-पिता के साथ रहते हैं और पूछा कि इसके क्या फ़ायदे और नुक़सान हैं.

1. 'नेटफ्लिक्स और चिल्ल'

कभी कभी आपके माता-पिता नहीं समझ पाते कि 'नेटफ्लिक्स और चिल्ल' के आपके लिए क्या मायने हैं (या फिर वो वाकई इसका मतलब जानते हैं) और वो आपको अकेला नहीं छोड़ते.

एक ने कहा, "वो कमरे में होते हैं या फिर अपने फ़ोन पर होते हैं. इसका मलतब है कि वो कहना चाहते हैं कि हमें अकेला छोड़ दो."

एक अन्य महिला ने बताया कि कोई पुरुष मित्र मेरे घर आते हैं तो मेरी मां उनसे सवालों की झड़ी लगा देती हैं.

उन्होंने कहा, "अगर मैं उनसे किसी को मिलवाऊं तो वो स्माइल के साथ कहती हैं, ओ..... वो तो मुझे बढ़िया... लगा."

2. टीवी पर सेक्स सीन देखना मतलब...

इमेज कॉपीरइट BBC/RDF Television

टीवी पर बढ़िया क्राइम ड्रामा आ रहा है और अचानक ही एक सेक्स सीन आ जाता है? और... बस कुछ लोग तुरंत ही टीवी की जगह अपने फ़ोन पर कुछ देखने लगते हैं.

एक व्यक्ति ने कहा, "गेम ऑफ़ थ्रोन का तो गेम ओवर ही समझो." दरअसल इस लोकप्रिय टीवी सिरीज़ के कई एडल्ट सीन होते हैं.

एक महिला ने बताया, "टीवी की आवाज़ ज़्यादा ना सुनाई दे इसीलिए मेरी मां मुझसे ऊंची आवाज़ में बात करने लगती है."

एक अन्य व्यक्ति ने बताया, ''एक बार टीवी देखते समय अचानक से महिला के ब्रेस्ट दिखाए जाने लगे. मेरी मां ने कहा, ओह माय गॉड, ये तो मेरे ब्रेस्ट की तरह दिखते हैं.''

वो बताते हैं, "मैंने अपना सिर दोनों हाथों में छिपा लिया. लगा कि धरती फट जाए और मैं उसमें समा जाऊं."

3. कंप्यूटर का सारा काम मुझे करना होता है

कई लोगों को ये नहीं पता कि वो अपने पिता को ईमेल में फ़ाइल अटैच करना कैसे बताएं. जिनसे हमने बात की, वो कंप्यूटर के काम में मुफ़्त मदद करने के अपने काम से खुश नहीं थे.

एक महिला ने बीबीसी को बताया "मैंने अपने माता-पिता से कहा कि इस साल का उनका रिज़ोल्यूशन है कि वो गूगल चलाना सीखें."

एक व्यक्ति तो ग़ुस्से में थे, "कितना मुश्किल है टीवी कार्यक्रम को रिकॉर्ड करना या फिर ईमेल भेजना? या कंप्यूटर से तस्वीरें मेल पर अटैच करना"

एक महिला ने कहा, "मुझे दफ्तर में फ़ोन आते हैं क्या तुम शाम को घर पर हो, मुझे कुछ प्रिंट करना है."

4. आप बड़े तो कभी नहीं होंगे

एक महिला ने बताया, "जब मेरा बॉयफ्रेंड घर आता है तो मेरी मां ये सुनिश्चित करती है कि मेरा कमरा साफ हो."

एक व्यक्ति ने बताया, "मेरी मां पूछती हैं तुम लड़कियों से मिलना कब शुरू करोगे? तुम बदमाशियां करना कब बंद करोगे?"

एक और व्यक्ति कहते हैं, "वो पूछती हैं ये प्लेट यहां क्यों पड़ी है. क्या इसे धोना नहीं है. मैं कहता हूं धो दूंगा ना."

एक ने कहा, "मेरे माता पिता कहते हैं मैं पैसे संभालना नहीं जानता, मैं कहता हूं जानता हूं इसीलिए तो मैं घर पर रहता हूं."

ये फ़ायदे की बात हो सकती है.

5. वो कहते हैं कि तुम्हें घर पर नहीं होना चाहिए

"बाहर जाओ, लोगों से मिलो-जुलो, दोस्त बनाओ. क्या घर में ही पड़े रहते हो?"

कुछ लोगों ने बताया कि उन्हें अपने मां-पिता से इस तरह की डांट पसंद नहीं.

एक व्यक्ति कहते हैं, "वो दौर अलग था, जब वो 20 साल के थे तब 10,000 पाउंड में घर खरीदना संभव था. उन्हें रियल एस्टेट में आए उछाल से कोई फर्क नहीं पड़ा था."

एक अन्य महिला के अनुसार, "मेरे पास इतने पैसे हैं कि मैं अपने लिए घर किराए पर ले सकती हूं. लेकिन मेरी पूरी तनख़्वाह तो किराए में ही चली जाएगी. मैं भूखी मर जाऊंगी, ना पानी के लिए पैसा दे पाऊंगी ना ही हीटर के लिए."

6. आपको हज़ारों सुविधाएं मिलती हैं

सही मायनों में कई लोगों ने बताया कि उन्हें अपने माता-पिता के साथ रहने पर कई फायदे मिलते हैं. देर से घर लौटने पर बिस्तर ठीक नहीं करना पड़ता.

एक युवा ने बताया, "मैं घर आता हूं और मुझे नहाने का पानी गर्म मिलता हैस मुझे अपना बेड भी नहीं लगाता पड़ता, मेरा कमरा एकदम साफ होता है."

एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि उनके माता पिता उनके लिए रोज़ खाना तैयार करते हैं.

एक महिला ने कहा, "मेरी मां घर के सारे कपड़े खुद ही धोती हैं. वो हमें वॉशिंग मशीन के पास भी जाने नहीं देतीं."

एक और महिला ने माना, "साथ रहें तो इसके कुछ फायदे तो हैं, आप इनसे इंकार नहीं कर सकते."

7. आपको किराया देना नहीं पड़ता

जिन लोगों से बीबीसी ने बात की, उन्हें यह बात कहने में अच्छा नहीं लगा कि वो किराया नहीं देते. एक महिला ने कहा, "मैं अपना खर्च खुद देती हूं."

एक अन्य महिला ने कहा, "मेरी मां चाहती हैं कि मैं अपने रहने का खर्च खुद उठाऊं. मैं वहां से निकल कर दूसरी जगह रहने के लिए तैयार हूं."

एक अन्य व्यक्ति ने कहा, "मुझे अपने हिस्से का खर्च देने में बुरा नहीं लगता. जितना महीने में खर्च करता हूं उस हिसाब से अपना खर्च मैं दे सकता हूं."

8. अपने लोगों के साथ रहना बुरा नहीं...

इमेज कॉपीरइट SPL

एक महिला ने बताया, "अगर मैं मां-पापा के साथ ना रहूं तो मुझे अपने लिए नौकरी खोजनी होगी और मुझे ये बिल्कुल पसंद नहीं. मैं अपने सपनों को जीना चाहती हूं और मैं नौकरी कर के बंधना नहीं चाहती."

एक अन्य व्यक्ति ने कहा, "मैं जानता हूं कि मैं लकी हूं. मैं ऐसे लोगों को जानता हूं जो 18 साल के होने के बाद से अकेले रह रहे हैं."

एक व्यक्ति जिनसे बीबीसी ने बात की थी उन्होंने बताया कि एक तरफ़ इसके आर्थिक फ़ायदे तो हैं ही लेकिन सबसे बड़ा फ़ायदा है उनके साथ समय बिताने का मौक़ा मिलना.

वो कहते हैं कि वो ईश्वर के शुक्रगुज़ार हैं कि वो अपनी मां के साथ अधिक वक्त बिता सकते हैं.

वो बताते हैं, "मैं और मेरी मां, हम दोनों बेस्ट फ्रेंड हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे