30 मिनट में हथियार डालिए... वर्ना
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

30 मिनट में हथियार डालिए... वर्ना

साल 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में लेफ़्टिनेंट जनरल जैक फ़ार्ज रफ़ेल जैकब की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका रही है. उनको ही फ़ील्ड मार्शल मानेक शॉ ने पाकिस्तानी सेना के आत्मसमर्पण की व्यवस्था करने के लिए ढ़ाका भेजा था.

उन्हीं के प्रयासों का परिणाम था कि 93,000 पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण किया था.

जनरल जैकब की पहली पुण्यतिथि पर सुनिए रेहान फ़ज़ल की विवेचना.

मिलते-जुलते मुद्दे