जब एक गुस्साए जल्लीकट्टु सांड से सामना हुआ
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

जब एक गुस्साए जल्लीकट्टु सांड से सामना हुआ

बात मई 2016 की है. इस सांड ने दो सालों से जल्लीकट्टू रेस का बस रियाज़ भर किया था क्योंकि दौड़ पर रोक थी.

सांड के मालिक और ट्रेनर रंजीत के मित्र मुदकथन मणि अब हमें अपने पांच पालतू सांडों से मिलवाने ले जा रहे थे.

पलामेडु गाँव के पीछे वाले हिस्से में एक बड़े से गैराज के भीतर बंधे ये सांड बेहद गुस्से में थे.