कश्मीरी लड़की की कहानी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

4 साल पहले मां चल बसी, 2 साल से पिता जेल में

  • 7 मार्च 2017

मारिया के पिता असदुल्लाह उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा ज़िले के रहने वाले हैं और हुर्रियत के वरिष्ठ कार्यकर्ता हैं. 13 अगस्त 2015 को उन्हें पब्लिक सेफ़्टी एक्ट (पीएसए) के तहत गिरफ्तार किया गया था. तबसे वो जम्मू की कोट बलवल जेल में बंद हैं. परिजनों का कहना है कि पीएसए को तीन बार रीन्यू किया गया. उनकी सबसे बड़ी बेटी मारिया पिछले दो साल से परिवार की मुखिया की ज़िम्मेदारी निभा रही हैं और अपने पांच भाई-बहनों की देख रेख और घर खर्च का इंतज़ाम कर रही हैं.

मारिया ने बताया कि जब वो 14 साल की थीं तो उनकी मां का देहांत हो गया, "उस समय ओसामा चार साल का था. 17 साल की सुमाया 10वीं में, सबरीना सातवीं में और इंशा छठी कक्षा में हैं."

मारिया ने अपने पिता को रिहा किये जाने की सरकार से अपील की है.

मिलते-जुलते मुद्दे