वर्षों बाद धुएं के आतंक से निकले लोग
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

वर्षों बाद धुएं के आतंक से निकले लोग

दुनिया की लगभग आधी आबादी आज भी घरों के भीतर पारंपरिक चूल्हों पर खाना पकाती है जिसमें ईंधन के तौर पर लकड़ी, कोयले या गोबर के कंडे का प्रयोग होता है.भारत में भी क़रीब 50 करोड़ लोग इन्हीं चूल्हों का प्रयोग करते है और एक साल पहले तक प्रकाश के घर भी यही होता था.

मिलते-जुलते मुद्दे