'अफ़ग़ान महिलाओं का चैनल'
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

अफ़ग़ान महिलाओं का चैनल

  • 25 मई 2017

इस चैनल का मुक़ाबला कई अन्य स्टेशनों से है और ज़रूरी नहीं कि टीआरपी की लड़ाई में उसकी जीत होगी ही. लेकिन ये चैनल अपने आप में मील का पत्थर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)