कत्ल जिसने भारत को झकझोर दिया
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

नानावटी केस पर आधारित पत्रकार बची करकरिया की किताब ‘इन हॉट ब्लड’ पर रेहान फ़ज़ल की विवेचना

  • 26 मई 2017

1959 में भारतीय नौसेना के कमांडर कवास मानेकशॉ नानावती ने अपनी अंग्रेज़ पत्नी सिलविया के प्रेमी प्रेम अहूजा को गोली से उड़ा दिया था.

सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें उम्र कैद की सज़ा सुनाई थी, लेकिन महाराष्ट्र की राज्यपाल ने उनकी दया याचिका स्वीकार करते हुए उन्हें रिहा करने के आदेश दे दिए थे.

इस कथानक पर बाद में कई फ़िल्में भी बनीं और कई किताबों में भी इसका ज़िक्र हुआ.

हाल ही में मशहूर पत्रकार बची करकरिया की एक किताब प्रकाशित हुई है ‘इन हॉट ब्लड ’ जिसमें उन्होंने इस बहुचर्चित हत्याकांड की परतों को उभारने की कोशिश की है.

विवेचना में रेहान फ़ज़ल नज़र डाल रहे हैं इस सनसनीख़ेज हत्याकांड पर