किसी का क्या बिगाड़ा था इस दलित युवक ने?
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

किसी का क्या बिगाड़ा था इस दलित युवक ने?

पाँच मई को शब्बीरपुर गांव में दलितों के घर जलाए जाने की घटना के कुछ समय बाद बहुजन समाज पार्टी की नेता मायावती 23 मई को शब्बीरपुर आई थीं.

आशीष उनकी रैली में शामिल होने शब्बीरपुर आया था. वापसी में दलितों पर हमला हुआ. गोलियाँ चलीं. आशीष वहीं ढेर हो गया.

पुलिस अब भी हमला करने वालों की शिनाख्त करने में जुटी है, लेकिन गांव वालों को यक़ीन है कि हमला ठाकुरों ने किया था.