'बेगुनाह गुनाहगारों' को कहानी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

16 साल जेल के बाद पता चला गुलज़ार बेगुनाह है...

जब कोई बिना अपराध के कई साल सलाखों को पीछे काटता है तो बाकी बची ज़िंदगी का क्या होता है? कोई पांच साल, कोई दस साल. ये वो लोग हैं जो जेल के पीछे जीवन काट रहे थे और बाद में बेगुनाह साबित हुए.

बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.