वो जिनक गीत को सुन कर लोग कुर्सियों पर खड़े हो जाते थे
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

अनिल विश्वास का संगीत सुन कर लोग कुर्सियों पर खड़े हो जाते थे

अनिल विश्वास ऐसे विरले संगीतकार रहे हैं, जिन्होंने ख्याल, ठुमरी, दादरा, वैष्णव संकीर्तन, रवीन्द्र-संगीत, नज़रुल गीति के साथ-साथ लोक-संगीत का भी ज्ञान अर्जित किया था.

वे ऐसे शुरुआती संगीतकारों में भी बड़े सम्मान से याद किये जाते हैं, जिन लोगों ने पहली बार ऑर्केस्ट्रेशन पर आधारित गीतों के साथ-साथ कोरस गीतों का भी संयोजन शुरू किया.

मिलते-जुलते मुद्दे