पाकिस्तान के भूले-बिसरे बौद्ध
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

पाकिस्तान के भूले-बिसरे बौद्ध

पाकिस्तान में बौद्ध धर्म का प्राचीन इतिहास है. पंजाब में तक्षशिला और ख़ैबर पख़्तूनख़्वा में तख़्त बाई के क्षेत्र में मौजूद स्तूप और स्वात घाटी में जन्म लेने वाली गंधारा संस्कृति जिसे बौद्ध धर्म का पालना माना जाता है. लेकिन अब स्थिति यह है कि पाकिस्तान में बौद्धों का कोई नियमित मंदिर मौजूद नहीं.

बौद्धों का राजनीतिक प्रतिनिधित्व नगण्य है और वह पाकिस्तानी होने के बावजूद पहचान से वंचित हैं. संख्या कम और आर्थिक रूप से कमज़ोर होने के कारण उन्हें समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

मिलते-जुलते मुद्दे