रोहिंग्या संकट को मानवीय नज़र से देखें सू ची: शेख़ हसीना
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

रोहिंग्या संकट: शेख़ हसीना ने की आंग सान सू ची की आलोचना

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने रोहिंग्या संकट के मुद्दे पर म्यांमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू ची को आड़े हाथों लिया है.

प्रधानमंत्री हसीना ने बीबीसी संवाददाता शालू यादव से बात करते हुए म्यांमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू ची से रोहिंग्या मुद्दे को मानवीय नज़र से देखने का संदेश दिया है.

उन्होंने कहा है, "मैं आन सांग सू ची से कहना चाहूंगी कि वे इस पूरी समस्या को मानवीय नज़र से देखें क्योंकि मासूम बच्चे और महिलाएं यातना का शिकार हो रही हैं"

हसीना ने म्यांमार सरकार के रोहिंग्या मुसलमानों को अपना नागरिक ना मानने के मुद्दे पर भी कड़ी आलोचना की.

हसीना ने बीबीसी को बताया, "रोहिंग्या मुसलमान बीते 100 सालों से म्यांमार में रह रहे हैं, अब म्यांमार ये कैसे कह सकता है कि रोहिंग्या उनके नागरिक नहीं है. ये बिलकुल ही गलत बात है"

वीडियो: शालू यादव/नेहा शर्मा

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)