महिलाओं ने न सिर्फ अर्थी को दिया कंधा, मुखाग्नि भी दी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

महिलाओं ने न सिर्फ़ अर्थी को दिया कंधा, मुखाग्नि भी दी

बिहार के नवादा ज़िला में महिलाओं ने रूढ़िवादी मान्यताओं को तोड़ते हुए अर्थी को कंधा दिया.

मिर्जापुर की रहने वाली शांति देवी का निधन 70 साल में हो गई. अंतिम यात्रा में उनकी अर्थी को उनकी बेटी, नातिन और मुहल्ले की अन्य औरतों ने कंधा दिया. वे शव को लेकर श्मशान घाट पहुंचे, जहां उन्होंने मुखाग्नि भी दी.

यह कोई पहला मामला नहीं है जब महिलाएं अर्थी को कंधा दे रही हैं. इससे पहले भी नवादा में महिलाएं ऐसा कर चुकी हैं. ये महिलाएं समाज में बराबरी का संदेश देना चाहती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे