"अमरीकी मिसाइलें निशाना कैसे चूक गईं?"
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

आईएस के जाने के बाद क्या है रक़्क़ा का हाल

सीरियाई शहर रक़्क़ा क़रीब तीन साल तक ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले चरमपंथी गुट के कब्ज़े में रहा है.

रक़्का एक तरह से उनकी राजधानी था. रक़्क़ा में आईएस की हार को जिहादियों के ख़िलाफ़ जारी जंग में एक बड़ी जीत बताया जाता रहा है.

गठबंधन सेना 2014 से ही सीरिया में हवाई हमले कर रही है. इनकी संख्या में अचानक से तेज़ी आई और इसी साल अगस्त में इन हमलों की संख्या 1400 तक पहुंच गई. भले ही सरकारी सेनाएँ दावा करती हैं कि इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ाई ख़त्म हो चुकी हैं, मगर जिन परिस्थितियों ने इस इलाक़े में जिहादी सोच को जन्म दिया, वो बरक़रार हैं.

रक़्का के बाशिंदे अब धीरे-धीरे घर लौट रहें हैं. लेकिन उनकी जान को आज भी ख़तरा है. देखिए रक़्क़ा से बीबीसी की ये ख़ास रिपोर्ट.

मिलते-जुलते मुद्दे