BBC Hindi

पहला पन्ना > कारोबार

अर्थव्यवस्था पर आत्मविश्वास: भारतीय दूसरे नंबर पर

Facebook Twitter
23 अप्रैल 2012 08:12 IST
 अर्थव्यवस्था

एक रिपोर्ट के अनुसार अपनी अर्थव्यवस्था को लेकर भारतीय दुनिया के सबसे अधिक आत्मविश्वासी लोगों में बने हुए हैं.

वैश्विक अनुसंधान कंपनी इपसॉस के मुताबिक आर्थिक तौर पर सबसे अधिक आत्मविश्वासी देशों की सूची में लगातार दूसरी बार भारत दूसरे नंबर पर रहा है.

भारत का आर्थिक आत्मविश्वास मार्च के महीने के मुकाबले पांच अंक बढ़ कर 75 प्रतिशत रहा. सऊदी अरब 89 प्रतिशत के साथ इस सूची में सबसे उपर रहा.

चीन 71 प्रतिशत के साथ तीसरे नंबर पर था जबकि उसके बाद इस सूची में स्वीडन (70%), जर्मनी (68%), कनाडा (64%) और ऑस्ट्रेलिया (62%) रहे.

कंपनी के भारत के सीईओ मिक गोर्डन ने कहा, ''परचेसिंग पॉवर पैरिटी यानी पीपीपी में भारत जापान को पछाड़कर तीसरे नंबर पर आ गया है और आरबीआई के रेपो रेट कम करने और महंगाई दर कम हो कर संतोषजनक होने से यह तेजी से विकास की ओर बढ रहा है.''

सुनिए: अर्थशास्त्री प्रो. सुनील पोशाकवाला का विश्लेषण

उन्होंने कहा, ''इससे मनोभाव में कुछ विश्वास आना चाहिए और निवेश को बढ़ावा मिलने में मदद मिलनी चाहिए. यह आरबीआई को दर कम करने का अधिक अवसर देगा जिससे निवेश और विकास को बढ़ावा मिलेगा.''

भविष्य

रिपोर्ट के अनुसार आधे से अधिक भारतीय (56%) मानते हैं कि उनकी अर्थव्यवस्था अच्छी है और 57% लोग मानते हैं कि आने वाले छह महीनों में उनके स्थानीय क्षेत्र की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी.

गोर्डन ने कहा कि वैश्विक आर्थिक संकेतक परेशान करने वाले हैं क्योंकि बाहरी विकास के स्रोत जिनपर भारत की अर्थव्यवस्था निर्भर करती रही है वो कमजोर होगी.

आने वाले समय को लेकर दुनिया के 34 प्रतिशत लोग मानते हैं कि उनकी अर्थव्यवस्था अगले छह महीनों में मजबूत होगी. ब्राजील के लोग इसके बारे में काफी आशावादी हैं जिसके बाद सऊदी अरब और भारत का नंबर आता है.

यह शोध मार्च के महीने में 24 देशों के लगभग 19,000 लोगों के बीच किया गया.

बुकमार्क करें

Email del.icio.us Facebook MySpace Twitter