प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

कैसे बताया बीबीसी ने दुनिया को

इंदिरा गांधी की हत्या को पूरे पच्चीस साल हो गए हैं और जब ये हत्या हुई थी तो भारत ही नहीं पूरी दुनिया को इस हादसे का पता बीबीसी से चला था.

तब मार्क टली और सतीश जैकब बीबीसी के संवाददाता थे लेकिन मार्क टली शहर से बाहर थे और ख़बरों की ज़िम्मेदारी सतीश जैकब पर थी.

सतीश जैकब कहते हैं कि अगर उनके दोस्त और जानेमाने पत्रकार आनंद सहाय ने उन्हें एक फ़ोन नहीं किया होता तो शायद वो इतिहास से यूं रूबरू नहीं होते. आप भी सुनिए उन्हीं की ज़ुबानी---