तस्वीरों में: क़ुरान जलाने की धमकी और बवाल

  • टेरी जोंस
    पादरी टेरी जोंस ने गेंसविला में डव वर्ल्ड आउटरीच सेंटर पर 30 अगस्त, 2010 को ये तस्वीर ख़िंचवाई थी. उधर अमरीका के ख़िलाफ़ रैली में कई अफ़ग़ान नागरिकों ने अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा पर निशाना साधा (फ़ोटो- एपी)
  • टेरी जोंस का पुतला फूंका
    छह सितंबर, 2010 को अफ़ग़ान नागरिकों ने डव वर्ल्ड आउटरीच सेंटर के पादरी टेरी जोंस का पुतला फूँका और अमरीका के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किए. (फ़ोटो- एपी)
  • कुरान बैनर
    छह सितंबर, 2010 को ही अफ़ग़ान लोगों ने क़ाबुल में अमरीका के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किए. उन्होंने बैनर उठा रखे थे जिन पर लिखा था - 'क़ुरान हमारा क़ानून है, इस्लाम हमारा धर्म है.' (फ़ोटो- एपी)
  • टेरी जोंस की जलती तस्वीर
    क़ाबुल में अमरीका के ख़िलाफ़ रैली में डव वर्ल्ड आउटरीच सेंटर के पादरी टेरी जोंस की तस्वीर जलाई गई. (फ़ोटो- एपी).
  • पत्रकारों से बात करते हुए टेरी जोंस
    आठ सितंबर, 2010 को पादरी टेरी जोंस ने गेंसविला में पत्रकारों से बातचीत की. उन्होंने कहा कि 11 सितंबर को वो अपने चर्च में क़ुरान की प्रतियां जलाने की योजना पर अभी भी क़ायम हैं. (फ़ोटो- एपी)
  • चर्च के बाहर ट्रेलर
    फ़्लोरिडा के गेंसविला में डव वर्ल्ड आउटरीच सेंटर के प्रवेश द्वार पर एक ट्रेलर खड़ा है जिसपर क़ुरान जलाने की बात लिखी हुई है. पादरी टेरी जोंस ने कहा - 'अभी तक तो हमारा योजना को रद्द करने का कोई इरादा नहीं है.' ( फ़ोटो- फ़ेलन एबनहैक/एएफ़पी/गेटी इमेजज़)

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.